Tue. May 28th, 2024

दिग्गज भाजपा सांसद का निधन, 4 दिनों से चल रहा था इलाज

Chamarajanagar BJP MP Passes Away: लोकसभा चुनाव के बीच भाजपा को एक और झटका लगा है. कर्नाटक के चामराजनगर सीट से सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री वी श्रीनिवास प्रसाद का निधन हो गया है. वी श्रीनिवास कई बीमारियों से जूझ रहे थे. पिछले 4 दिनों से उन्हें ICU में एडमिट कराया गया था. सोमवार तड़के 1.27 बजे बेंगलुरु के एक निजी अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली.

कर्नाटक के चामराजनगर के भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री वी श्रीनिवास प्रसाद का सोमवार तड़के निधन हो गया. श्रीनिवास प्रसाद पिछले कुछ महीनों से उम्र संबंधी बीमारियों से जूझ रहे थे. उन्हें बेंगलुरु के अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां पिछले 4 दिनों से उन्हें ICU में रखा गया था. सोमवार तड़के 1.27 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली.

श्रीनिवास प्रसाद ने 17 मार्च को राजनीति से संन्यास की घोषणा की थी. संन्यास की घोषणा के बाद भी मैसूर के जयलक्ष्मीपुरम में उनके बंगले पर राजनीतिक नेताओं का आना-जाना लगा रहा. मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा समेत कांग्रेस और भाजपा के नेता उनका समर्थन मांगने के लिए उनसे मिलने आते रहे.

लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद आते रहते थे नेता

लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद से उनके आवास पर नेताओं का आने का सिलसिल जारी थी. उनके घर आने वाले नेताओं में मैसूर-कोडागु और चामराजनगर क्षेत्र के उम्मीदवार यदुवीर कृष्णदत्त चामराजा वाडियार, एम लक्ष्मण, एस बालाराज और सुनील बोस, समाज कल्याण मंत्री एचसी महादेवप्पा और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बीवाई विजयेंद्र शामिल हैं.

6 जुलाई, 1947 को मैसूर के अशोकपुरम में एम वेंकटैया और डीवी पुट्टम्मा के घर जन्मे प्रसाद ने 17 मार्च, 1974 को कृष्णराज विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा और राजनीति में एंट्री की. वे बचपन से 1972 तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के स्वयंसेवक थे. श्रीनिवास प्रसाद जनसंघ और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) में भी एक्टिव थे.

राजनीतिक करियर में प्रसाद ने लड़े 14 चुनाव

श्रीनिवास प्रसाद ने अपने राजनीतिक करियर में 14 चुनाव लड़े, जिनमें से 8 में जीत हासिल की. उन्होंने चामराजनगर निर्वाचन क्षेत्र से 9 लोकसभा चुनाव लड़ा और 6 में जीत हासिल की. उन्होंने 1999 से 2004 तक लोकजनशक्ति सांसद के रूप में अटल बिहारी वाजपेयी मंत्रिमंडल में केंद्रीय मंत्री के रूप में काम किया. वे दो बार विधायक चुने गए और कर्नाटक के राजस्व मंत्री के रूप में भी काम किया.

कांग्रेस, फिर जनता दल (यूनाइटेड) में शामिल होने और फिर कांग्रेस में लौटने से पहले उन्होंने 1980 में जनता पार्टी के सदस्य के रूप में अपनी लोकसभा यात्रा शुरू की. 2016 में सिद्धारमैया कैबिनेट से हटाए जाने के बाद वे भाजपा में शामिल हो गए थे. श्रीनिवास प्रसाद के परिवार में पत्नी भाग्यलक्ष्मी और तीन बेटियां हैं. उनके एक दामाद देवराज आईआरएस (राजस्व) अधिकारी हैं, जो हैदराबाद में जीएसटी आयुक्त (अपील) के रूप में पोस्टेड हैं. 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *