विद्या चौधरी ने बसपा का दामन छोड़कर सपा का दामन थामा।

विद्या चौधरी ने बसपा का दामन छोड़कर सपा का दामन थामा।

रिपोर्टर:-राकेश वर्मा


आजमगढ़: बहुजन समाज पार्टी से दो बार विधायक रही और बसपा सरकार में मंत्री भी रही विद्या चौधरी ने बसपा का दामन छोड़कर सपा का दामन लखनऊ में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में थाम लिया। आजमगढ़ जनपद आगमन पर कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। पूर्व मंत्री ने कहा कि सपा की नीतियों से प्रभावित होकर उन्होंने सपा का दामन थामा है और आगामी 2022 में अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाना है।


आजमगढ़ जिले के मेहनगर विधानसभा क्षेत्र से दो बार बसपा से विधायक रही विद्या चौधरी ने 1992 में राजनीति में कदम रखा और बसपा का दामन थामा और वर्ष 2002 और वर्ष 2007 में वह मेहनगर विधानसभा क्षेत्र से बसपा के टिकट पर विधायक रही और उन्हें मंत्री भी बनाया गया था। 2017 के विधानसभा चुनाव में विधानसभा मेहनगर से बसपा के टिकट में चुनाव लड़ी लेकिन समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी से बहुत ही कम वोटों से हार गई थी।

विद्या चौधरी ने 19 फरवरी को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया और आज जब वह अपने गृह जनपद आजमगढ़ पहुंची तो कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया और जमकर नारेबाजी की। इस दौरान पूर्व मंत्री काफी उत्साहित नजर आई और उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के नीतियों से प्रभावित होकर उन्होंने सपा का दामन थामा है और आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव में कड़ी मेहनत करके वह अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने का काम करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *