Sat. Feb 24th, 2024

Video: जब CJI चंद्रचूड़ ने फाफड़ा, गाठिया और जलेबी को कहां अपनेपन का एहसास, लोगों ने जमकर ठाहाके

CJI is seen communicating in Gujarati

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ शनिवार को एक दिवसीय दौरे पर गुजरात पहुंचे। यहां उन्होंने राजकोट में एक नए कोर्ट का उद्घाटन किया। इससे पहले  जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने गुजरात के द्वारकाधीश मंदिर पहुँच कर भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना की। उनके साथ उनकी पत्नी भी थीं। इस दौरान मंदिर में सुरक्षा कड़ी रही और उनके साथ पुलिस के कई जवान व सुरक्षाकर्मी भी चल रहे थे। जस्टिस चंद्रचूड़ का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें सीजेआई गुजराती में संवाद करते नजर आ रहे हैं।

सोशल मीडिया एक्स पर मिस्टर सिन्हा नाम के एक यूजर ने वीडियो शेयर किया है। वीडियो एक मिनट का है। इसमें सीजेआई कहते नजर आ रहे हैं, “फाफड़ा, गाठिया और जलेबी अपनापन का अहसास दिलाती है। सीजेआई के गुजराती संवाद पर हॉल में मौजूद लोग ठहाके लगाकर हंसने लगे और जोर-जोर से तालियां बजाने लगे। सीजेआई आगे कहते हैं, “पूरे राजकोट में चार ही दुकान ऐसी हैं, जहां खड़े हो जाएं तो बात करते-करते रात हो जाए। मुझे इस बात की खुशी है कि यह शहर कायदे से रहता है। सीजेआई के गुजराती संवाद को सुनते ही वहां मौजूद लोग जोर-जोर से हंसने लगे। खुद जस्टिस चंद्रचूड़ भी अपने आप को हंसने से रोक नहीं पाए।

इससे पहले जस्टिस चंद्रचूड़ ने नए जिला न्यायालय भवन के उद्घाटन के अवसर पर गुजरातियों के संबंध में एक मजेदार कहावत सुनाई। सीजेआई चंद्रचूड़ ने कहा, ”आज जब हम इस शानदार नए जिला न्यायालय भवन के साथ एक नए युग के मुहाने पर खड़े हैं, राजकोट जिला राज्य का चौथा सबसे बड़ा जिला है। मुझे एक मजेदार कहावत याद आती है जो गुजरात की भावना को दर्शाती है।

सीजेआई ने कहा, ”वे कहते हैं कि जबकि बाकी दुनिया नई तकनीकियों के पीछे दौड़ती है, एक गुजराती सबसे सरल चीजों को भी नया करने का एक तरीका ढूंढ लेगा, उदाहरण के लिए चाय ब्रेक को एक व्यापार रणनीति बैठक में बदलना सर्वोत्कृष्ट गुजराती ह्यूमर है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *