Sat. Feb 24th, 2024

UAE में भी लॉन्च हुआ UPI, PM मोदी ने की शुरूआत

PM Modi UAE Visit Live: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूएई के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के साथ मिलकर अबूधाबी में यूपीआई रुपे पेमेंट की शुरुआत की। अब यूएई में रहने वाले भारतीय और पर्यटकों भारतीय रुपये में भुगतान कर सकेंगे। इससे पहले पीएम मोदी और राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के बीच वार्ता हुई। बता दें कि प्रधानमंत्री दो दिवसीय यूएई और कतर की यात्रा पर अबूधाबी पहुंचे हैं। 

बता दें कि यूपीआई पमेंट सिस्टम सबसे पहले सिंगापुर में लॉन्च किया गया था। इसके बाद नेपाल, भूटाल, फ्रांस, श्रीलंका और मॉरीशस में भी यूपीआई लॉन्च किया गया है। जल्द ही बांग्लादेश में यूपीआई सिस्टम लॉन्च करने की योजना है।

आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को कहा कि यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) को लेकर कई अन्य देशों ने रुचि दिखायी है और उनके साथ बातचीत जारी है। हालांकि, दास ने उन देशों के नाम नहीं बताये, जिन्होंने लोकप्रिय यूपीआई को लेकर रुचि दिखायी है। उन्होंने भारत और मॉरीशस के बीच रुपे कार्ड और यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस सुविधा और भारत और श्रीलंका के बीच यूपीआई कनेक्टिविटी की जानकारी देते हुए यह बात कही। 

मॉरीशस और श्रीलंका में 12 फरवरी को हुआ लॉन्च

इससे पहले भारत की यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) सेवाओं की शुरुआत सोमवार को श्रीलंका और मॉरीशस में हुई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसे ऐतिहासिक संबंधों को आधुनिक डिजिटल प्रौद्योगिकी से जोड़ने वाला बताया। इस ऑनलाइन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे और मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ ने भी हिस्सा लिया। अपनी टिप्पणी में मोदी ने उम्मीद जताई कि नई फिनटेक सेवाएं दोनों देशों की मदद करेंगी। उन्होंने कहा कि यूपीआई ‘भारत के साथ साझेदारी को एकजुट करने की नई जिम्मेदारियों’ को क्रियान्वित कर रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘आज हिंद महासागर क्षेत्र के तीन मित्र देशों के लिए एक विशेष दिन है क्योंकि हम अपने ऐतिहासिक संबंधों को आधुनिक डिजिटल तकनीक के साथ जोड़ रहे हैं।”

मोदी ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि यूपीआई प्रणाली से श्रीलंका और मॉरीशस को फायदा होगा।” प्रधानमंत्री ने कहा कि सार्वजनिक डिजिटल बुनियादी ढांचे से भारत में क्रांतिकारी बदलाव आया है। उन्होंने ‘पड़ोस प्रथम’ नीति पर भारत की केंद्रित नीति को भी रेखांकित किया। उन्होंने कहा, ‘‘चाहे वह प्राकृतिक आपदा हो, स्वास्थ्य से जुड़ी हो, आर्थिक या अंतरराष्ट्रीय मंच पर समर्थन, भारत ने सबसे पहले प्रतिक्रिया दी है। भारत आगे भी यह जारी रखेगा।”

श्रीलंका और मॉरीशस में भारतीय सेवाओं की शुरुआत दोनों देशों के साथ भारत के बढ़ते द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों की पृष्ठभूमि में हुई है। इससे श्रीलंका और मॉरीशस की यात्रा करने वाले भारतीय नागरिकों के साथ ही भारत की यात्रा करने वाले इन देशों के नागरिकों के लिए यूपीआई की सेवा उपलब्ध होगी। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) द्वारा विकसित यूपीआई मोबाइल फोन के माध्यम से अंतर-बैंक लेनदेन की सुविधा के लिए एक त्वरित वास्तविक समय भुगतान प्रणाली है। रुपे भारत का एक वैश्विक कार्ड भुगतान नेटवर्क है, जिसकी दुकानों, एटीएम और ऑनलाइन पर व्यापक स्वीकृति है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *