(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Mon. Apr 15th, 2024

युपी पुलिस 2023 परीक्षा के री-एग्जाम की डेट के ऐलान, अब 60,2044 नौजवान पहनेंगे वर्दी 

UP Police Constable Re-Exam Date: उत्तर प्रदेश पुलिस 2023 परीक्षा के री-एग्जाम की डेट के ऐलान का लाखों छात्र इंतजार कर रहे हैं. 60,244 पदों के लिए भर्ती के लिए 17 और 18 फरवरी को परीक्षा कराई गई थी.

फरवरी में उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा कांस्टेबल की 60244 पदों पर निकाली गई भर्ती के लिए लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी. लेकिन परीक्षा में पेपर लीक होने की वजह से हजारों छात्र सड़क पर उतरकर पेपर को रद्द कर री-एग्जाम करने की मांग पर अड़ गए. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पेपर को  निरस्त कर दोबारा री-एग्जाम कराने की बात कही. पेपर लीक करने वालों पर एसटीएफ कार्रवाई कर रही है. कहीं गुनहगारों को गिरफ्तार भी कर लिया है. आइए जानते हैं कि यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती के री-एग्जाम को लेकर क्या अपडेट सामने आ रही है.

लोकसभा चुनाव 2024 की वजह से अभी तो आचार संहिता लग गई है. लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल से शुरू होकर 7 चरणों में संपन्न होगा. और 4 जून को वोटों की गिनती होगी. इसलिए इस दौरान यूपीपी कांस्टेबल 2023 का री-एग्जाम नहीं हो सकता है. 

दो शिफ्टों में हुई थी परीक्षा

17 और 18 फरवरी को 4 शिफ्टों में यूपीपी  कांस्टेबल भर्ती की परीक्षा कराई गई थी. 60,244 पदों के लिए लगभग 48 लाख छात्रों ने परीक्षा दी थी. इतने भारी संख्या में युवाओं ने इस भर्ती में आवेदन किया था. 2 दिनों में 48 लाख छात्रों ने यूपीपी पुलिस की परीक्षा दी थी. 

रिपोर्ट्स के मुताबिक 17 और 18 फरवरी के दूसरी शिफ्ट के पेपर सुबह से ही सोशल मीडिया पर घूम रहे थे. दोनों दिन की दूसरी शिफ्ट में लगभग 24 लाख अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी. अनुमान के मुताबिक लगभग 8 से 10 लाख छात्रों के पास पहले ही पेपर पहुंच चुका था. वैकेंसी थी 60,244 यानी जिन लाखों छात्रों को पहले ही प्रश्न पत्र मिल चुका था उनमें से सिर्फ 60,244 का ही सिलेक्शन होता है. यानी नकल इतनी हो गई थी कि जिन्हें पेपर मिल गया था वो ही न सिलेक्ट होते. ऐसे में सरकार ने परीक्षा को निरस्त कर दोबारा री-एग्जाम करने का निर्णय लिया. 

कब होगा री-एग्जाम

मुख्यमंत्री योगी ने 24 फरवरी को ट्वीट कर आरक्षी नागरिक पुलिस के पदों पर चयन के लिए आयोजित परीक्षा-2023 को निरस्त करने का आदेश दिया. उन्होंने ट्वीट में कहा था कि युवाओं के मेहनत के साथ किसी भी तरह का खिलवाड़ नहीं किया जा सकते हैं. ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाएगा. सीएम योगी ने ट्वीट में लिखा था कि 5 महीने के अंदर पुन परीक्षा कराई जाएंगी. 

यानी अगर सीएम योगी आदित्यनाथ के 24 फरवरी के ट्वीट की मानें तो 6 माह के भीतर परीक्षाएं होंगी. यानी अगस्त तक परीक्षा कराई जा सकती है.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *