वित्तीय वर्ष 2021-22 में जनपद आजमगढ़ में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजनान्तर्गत।

वित्तीय वर्ष 2021-22 में जनपद आजमगढ़ में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजनान्तर्गत।

संवाददाता:-राकेश वर्मा

आज़मगढ़ भूमि संरक्षण अधिकारी ऊसर सुधार, संगम सिंह ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में जनपद आजमगढ़ में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजनान्तर्गत कुल 30 खेत तालाब खोदने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। योजना के तहत खोदे गये तालाबों में वर्षा के जल को संचित करने, फसलों की सिंचाई के लिए प्रयोग करना, भूमि की जल ग्रहण क्षमता में वृद्धि करना तथा मछली का पालन करते हुए किसानों की आय में वृद्धि करना है। भूमि संरक्षण अधिकारी ऊसर सुधार आजमगढ़ संगम सिंह ने अवगत कराया है कि लाभार्थी किसानों के जमीन पर स्वयं उनके द्वारा 22 मी0 लम्बा, 20 मी0 चौड़ा तथा 3 मी0 गहरा तालाब मशीनरी के माध्यम से खोदे जाने हैं, जिसकी परियोजना लागत कुल शासन द्वारा अधिकतम 105000 रूपये निर्धारित की गयी है। इसमें 50 प्रतिशत अनुदान रू0- 52500 सीधे लाभार्थी कृषक के खाते में कार्य शुरू होने से लेकर समाप्ति तक तीन चरणों में दिया जायेगा। योजना के अन्तर्गत लाभ लेने हेतु कृषि विभाग के पोर्टल upagriculturl.com पर 30 तालाबों के सापेक्ष कुल 42 किसानों के द्वारा आनलाइन मांग की गयी है। शासनादेश के अनुसार जिन कृषकों के द्वारा मांग की गयी है उनको टोकन मनी के रूप में रू0- 1000 जमा करना है, जिनमें से मात्र 20 किसानों के द्वारा अभी टोकन मनी जमा की गयी है। जिन कृषकों के द्वारा अभी तक टोकन मनी जमा नहीं किया गया है वे यथाशीघ्र कृषि विभाग के पोर्टल upagriculturl.com से अपना किसान पंजीकरण व आधार सं0 के माध्यम से चालान प्रिंट कराते हुए किसी भी यूनियन बैंक शाखा में रू0- 1000 का टोकन मनी जमा कर दें। निर्धारित समय तक टोकन मनी जमा न करने वाले किसान अपात्र माने जायेंगे, तद्नुसार उनको निरस्त करते हुए अन्य किसानों को प्रथम आवक प्रथम पावक के अनुसार अवसर प्रदान किया जयेगा। इसी के साथ जिन किसानों के द्वारा टोकन मनी जमा कर दी गयी है, वे जिस स्थल पर तालाब खोदवाना चाहते हैं उसकी खतौनी एवं शपथपत्र कार्यालय में 3 दिवस के अन्दर जमा कर दें।योजनान्तर्गत निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष बजट प्राप्त हो गया है, जिन किसानों के द्वारा तालाब की खुदाई कर ली जा रही है, उनको नियमानुसार अनुदान की धराशि उनके खाते में यथाशीघ्र भेज दी जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *