दो दर्जन नेता शुक्रवार को समाजवादी पार्टी में शामिल

रिपोर्टर: राकेश वर्मा / आजमगढ़: पूर्व मंत्री आरके चौधरी, बसपा की पूर्व मंत्री व पूर्व विधायक विद्या चौधरी समेत करीब दो दर्जन बसपा और कांग्रेस के नेता शुक्रवार को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। आरके चौधरी बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे हैं। बसपा से आरके चैधरी कांग्रेस में शामिल हुए थे। लखनऊ के मोहनलालगंज सुरक्षित सीट से कांग्रेस के टिकट पर चैधरी ने 2019 में लोकसभा चुनाव लड़ा था।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में आरके चौधरी के साथ अन्य नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाई। आरके चौधरी के साथ पूर्व विधायक कालीचरण राजभर और पूर्व आईपीएस अधिकारी गुरबचन लाल समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। कालीचरन राजभर गाजीपुर जिले के जहूराबाद विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से 15वीं विधानसभा में बसपा से विधायक थे।

2007 में कालीचरन 15वीं विधानसभा में विधायक रहे। आरके चौधरी के अलावा पूर्व मंत्री जय नारायण तिवारी सुल्तानपुर, पूर्व मंत्री वीरेंद्र सिंह वाराणसी, पूर्व आईपीएस हरीश कुमार, विद्या चौधरी पूर्व विधायक बसपा समेत अन्य दलों के कई नेता सपा में शामिल हुए हैं। इस अवसर पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार तो अब जा रही है।

2022 में प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी। अखिलेश ने कहा कि जो एमओयू हो चुका है, उसका भी प्रदेश सरकार एमओयू करती है। उन्होंने कहा कि उन्नाव में लगातार महिला के खिलाफ अपराध हो रहे हैं। हाथरस में तो रात में ही बेटी को जला दिया। प्रदेश सरकार को ट्रैक्टर से नाराजगी है। यहां पर किसानों को फसलों की कीमत नहीं मिल रही है। हर सरकारी चीज बेची जा रही है। पुलिस को खुली छूट देने का नतीजा है कि पुलिस अभिरक्षा में लोगों की मौत हो रही है।

इसके साथ ही महंगाई चरम पर है। अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने हर वर्ग के लोगों को दुखी किया है। किसानों के सामने संकट पैदा कर दिया है। भाजपा ने जो कहा था जब करने का समय आया तो ऐसा कानून बना दिया। इससे पूरी खेती-किसानी संकट में चली जाएगी। पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने से महंगाई बढ़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *