अखिल भारतीय बैंक ईम्पलाइज एसोशिएशन द्वारा आयोजित दो दिवसीय हड़ताल

अखिल भारतीय बैंक ईम्पलाइज एसोशिएशन द्वारा आयोजित दो दिवसीय हड़ताल

संवाददाता राकेश वर्मा

आजमगढ़: अखिल भारतीय बैंक ईम्पलाइज एसोशिएशन द्वारा आयोजित दो दिवसीय हड़ताल 15 व 16 मार्च को हो रही है, जिसमें सरकारी बैंको के बिलय एवं बिक्री करने, कारपोरेट सेक्टर को बैंक सेवाओं में भागीदारी देने के सरकार के निर्णय का विरोध किया जा रहा है। बीएसएनएल ईम्पलाइज युनियन ने बैंक कर्मचारी संगठनों की हड़ताल का समर्थन किया है। बीएसएनएल ईम्पलाइज युनियन ने समर्थन में लंच आवर धरने का आयोजन किया।

धरने को संबोधित करते हुए बीएसएनएल ईम्पलाइज युनियन के अखिल भारतीय सहायक सचिव आनंद कुमार सिंह ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने देश की अर्थव्यवस्था को संभाल रखा है। वैश्विक मंदी के समय इंही सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों देश की अर्थव्यवस्था को को गिरने से बचाया।

भारत के गरीबों एवं ग्रामीण क्षेत्र के किसानों एवं छोटे उद्योगों को ऋण देकर उनके विकास का मार्ग प्रशस्त किया है।वर्तमान भारतीय सरकार देश के सरकारी उपक्रमों, बैंकों एवं संस्थानों को लगातार कमजोर करने का कार्य कर रही है जिसका विरोध अब तेज किया जाना आवश्यक हो गया है। सभी सरकारी एवं सार्वजनिक संस्थानों के सभी संगठनों को एक मंच पर आकर सरकार की जनविरोधी नितियों का अक्रामक एवं पुरजोर विरोध किया जाना चाहिए।

इसकी शुरुआत हो चुकी है. यदि सभी एकजुट नही हुये तो ये सरकार एक एक कर सभी सरकारी संस्थानों को बेच देगी व सारा कारोबार निजी हाथों में सौंप देगी. गाँव गरीब व आम जन सिर्फ़ नारों में रह जायेगा। भारत की कल्याणकारी राज्य की अवधारणा ही खतरे में पड़ जायेगी।

धरने में सभी कर्मचारियों ने बढ चढ कर भागीदारी की । मुख्य रूप से प्रशांत कुमार यादव , सुनील चौहान ,अजय राय , अशोक यादव, मुनीलाल यादव, तौफीक आलम, सुनील चौहान ,सुनील उपाध्याय, माता प्रसाद यादव ,संतोष सिंह, वैभव सिंह, परमेश्वर साह, अब्दुल हन्नान, रामाशीष यादव, वीरेंद्र चौबे शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *