नगर पालिका की तरफ से शहर के हर चौराहे तिराहे व प्रमुख स्थलों पर प्याऊ व वाटर कूलर है, लेकिन रखरखाव के अभाव के चलते ज्यादातर बंद पड़े हुए ।

नगर पालिका की तरफ से शहर के हर चौराहे तिराहे व प्रमुख स्थलों पर प्याऊ व वाटर कूलर है, लेकिन रखरखाव के अभाव के चलते ज्यादातर बंद पड़े हुए ।

संवाददाता:-राकेश वर्मा आजमगढ़

जून माह की गर्मी व उमस के बीच शरीर में पानी की कमी महसूस होती है और जब राहगीर या कोई भी घर से बाहर निकलता है तो ज्यादा ऊर्जा खर्च होने के चलते प्यास लगती है। इन्हीं समस्याओं के निराकरण के लिए आजमगढ़ नगर पालिका की तरफ से शहर के हर चौराहे तिराहे या प्रमुख स्थलों पर प्याऊ व वाटर कूलर की स्थापना कई वर्षों से होती आई है। लेकिन रखरखाव के अभाव के चलते ज्यादातर बंद पड़े हुए हैं। लोगों को इन वाटर कूलर के पास पहुंच कर भी मायूस होना पड़ता है। शहर में 25 की संख्या में जगह जगह इंडिया मार्का हैंडपंप लगे हैं। लेकिन वह भी दुर्दशा के शिकार हैं और मात्र 5 से 10 परसेंट ही चालू हालत में दिखते हैं। कुल मिलाकर शासन व प्रशासन की तरफ से तमाम दावे नागरिक सुविधाओं की किए जाते हैं और लाखों करोड़ों रुपए खर्च होते हैं लेकिन लापरवाही के चलते आम लोगों को इन सुविधाओं की प्राप्ति नहीं हो पाती है। नगर पालिका की तरफ से लगाए गए प्याऊ की बदहाली के मामले में प्रभारी अधिशासी अधिकारी व सदर एसडीएम वागीश शुक्ला ने बताया कि उन्होंने संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों को शहर के सभी प्याऊ की हालत को लेकर रिपोर्ट देने को कहा है। दो-तीन दिन के भीतर रिपोर्ट मिल जाएगी। अमूमन रखरखाव के अभाव में कई प्याऊ बंद है। इसमें ज्यादा लागत नहीं आएगी और वह चालू हालत में जल्द ही आ जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *