गरीबों का खाद्यान्न बेचते हुए कोटेदार को ग्रामीणों ने रंगेहाथ पकड़ा प्रधान के मिली भगत से कोटेदार काट रहा था चाँदी

गरीबों का खाद्यान्न बेचते हुए कोटेदार को ग्रामीणों ने रंगेहाथ पकड़ा प्रधान के मिली भगत से कोटेदार काट रहा था चाँदी

संवाददाता:-रन्धा सिंह

चंदौली। रात के अंधेरे में चाँदी काट रहे कोटेदार को ग्रामीणों ने घेरा ग्रामीणों को देख उड़ गये कोटेदार के होश। पूर्ति निरीक्षक ममता सिंह ने दिए जाँच के आदेश। पूरा मामला चकिया तहसील क्षेत्र के कोदोचक देवरी कला है जहां कोटेदार को गरीबों का खाद्यान्न बेचते हुए ग्रामीणों ने रंगेहाथ पकड़ा लिया। रविवार की देर रात जब गांव के लोग सो रहे थे तभी कोटेदार द्वारा मैजिक वाहन में गरीबो का राशन गेंहू चावल लादकर बेचने जा रहा था। इसी दौरान एक ग्रामीण की नींद खुल गई। और जब उसने घर के बाहर निकलवाकर देखा तो कोटेदार द्वारा एक वाहन में राशन लादकर गांव के बाहर जा रहा था तभी ग्रामीण ने आसपास के लोगो को इकट्ठा कर वाहन को घेर लिया और हंगामा करने लगे। हंगामा देख ग्राम प्रधान और कोटेदार ने ग्रामीणों को मनाने का भरसक प्रयास किया लेकिन वे नहीं माने। इसकी सूचना पूर्ति निरीक्षक ममता सिंह की दी मौके पर पहुची ममता सिंह ने कहा कि इसकी जांच कर कार्यवाही करने की बात कही है। कोदोचक देवरी कला गांव में रविवार की रात कोटेदार द्वारा गरीबों में वितरित होने वाले खाद्यान्न को लादकर ले जा रही मैजिक यूपी 63 टी 7040 को ग्रामीणों ने घेर लिया। पूरे गांव के लोग इकट्ठा होकर हंगामा करने लगे। ग्रामीणों के तेवर देख कोटेदार हकबका गया। साथ ग्रामीणों ने प्रधान पर भी मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि ग्राम प्रधान राशन सहित वाहन को अपने घर ले आए लेकिन मामले को रफा-दफा करने में लग गए। कहा कि कोटेदार गुड्डू सोनकर इसी तरह गरीबों का राशन बेच देता है। कोरोना काल में सरकार गरीव वर्ग के लोगों को मुफ्त खाद्यान्न मुहैया करा रही है जबकि कुछ भ्रष्ट कोटोदार इसे बेचकर अपनी जेब भर रहे हैं। इस बाबत पूर्ति निरीक्षक ममता सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में नहीं था। यदि ऐसी शिकायत है तो इसकी जांचकर उचित कार्रवाई की जाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *