ननिहाल में आये किशोर ने निगल लिया 5 इंच का चुम्बक, डॉक्टरों की टीम ने सफलता पूर्वक निकला किशोर स्वस्थ।

ननिहाल में आये किशोर ने निगल लिया 5 इंच का चुम्बक, डॉक्टरों की टीम ने सफलता पूर्वक निकला किशोर स्वस्थ।

संवाददाता:-कमलेश गुप्ता

परिजनों ने कहा डॉक्टर है भगवान का रूप

मिर्जामुराद:- गौर गांव (मिर्जामुराद) निवासी प्रेमनाथ तिवारी के घर उनका नाती कार्तिकेय उपाध्याय (12) वर्ष नामक किशोर हप्ते भर से अपने ननिहाल आया हुवा था की मंगलवार को बच्चों संग हाथ में लगभग 5 सेंटी मीटर लम्बा चुम्बक खेलते खेलते मुँह में निगल गया बच्चा घबड़ाते हुए अपने मम्मी को बताया की चुम्बक पेट में चला गया थोड़ी देर बाद बच्चे के पेट में दर्द भी शुरू हो गई। ननिहाल के लोग व किशोर के पिता मुकेश उपाध्याय उसे लेकर बीएचयू पहुँचे बच्चे को गैस्ट्रोलॉजी के डॉक्टर अनुराग तिवारी को दिखाया तो उन्होंने तत्काल बच्चे के पेट का एक्सरे कराया तो चुम्बक पेट में खाने की थैली में फसा दिखा बिना समय गवाये तत्काल डा.अनुराग तिवारी एसिस्टेंट प्रोफेसर (गैस्ट्रोलाजी) ने अपने सहयोगी टीम नीलेश, डविनोद मुखर्जी व श्री सिकन्दर के साथ बच्चे को बेहोस कर इंडोस्कोपी के माध्यम से पेट अंदर एक जाली टाइप का डाल कर उसमे चुम्बक को फसा कर लगभग आधे घण्टे में ही अथक प्रयास के बाद बच्चे के खाने की थैली से से बाहर निकाला तब जाकर परिजनों की जान में जान आया।डा.अनुराग तिवारी ने बताया अगर घण्टे दो घण्टे की देरी हुई होती तो यह चुम्बक आत में जाकर फस जाता तब खतरा बढ़ सकता था और बड़ा आपरेशन करना पड़ता। इस समय बच्चा बिलकुल स्वस्थ है वही बच्चे के परिजननो कहा की सत्य ही कह गया है की डॉक्टर भगवान का रूप होते है।ये पूरा प्रक्रिया प्रो.वीके दीक्षित,डा.एसके शुक्ला.डा.डीपी यादव व डा.विनोद कुमार की देखरेख में सम्पन हुवा।वही डा.अनुराग ने अपने उन संज्ञाहरण के रेजीडेंट डॉक्टरों को धन्यबाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *