आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ का धरना पांचवे दिन भी जारी रहा

आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ का धरना पांचवे दिन भी जारी रहा

रिपोर्टर राकेश वर्मा आजमगढ़

राज्य कर्मचारी का दर्जा व सम्मानजनक मानदेय दिये जाने सहित 10 सूत्री मांगों को लेकर महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ आजमगढ़ का धरना पांचवे दिन अम्बेडकर पार्क में जारी रहा। शनिवार को रिक्शा स्टैण्ड पर आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए मांगों को शीध्र पूरा किये जाने की मांग किया। धरने की अध्यक्षता प्रदेश उपाध्यक्ष द्रौपदी सिंह व संचालन जिला उपाध्यक्ष नीतू पांडेय ने किया।

धरने को सम्बोधित करते हुए ने प्रदेश उपाध्यक्ष द्रौपदी सिंह ने आंगनबाडी कार्यकर्त्रियों की आवाज को अपने हठवादिता के जरिये दबाना चाहती है। हमारी जायज मांगों को लेकर सरकार ने कई बार आश्वासन दिया। लेकिन जब-जब वादो को पूरा करने का समय आता है तो ठगने का काम करती है। इसी को लेकर 16 मार्च को संयुक्त मोर्चा के बैनर तले प्रदेश स्तरीय प्रदर्शन का आयोजन किया गया है।

जिलाध्यक्ष सुमित्रा सिंह ने बताया कि सरकार हर कार्यो में हमारा सहयोग लेती है लेकिन हमें राज्य कर्मी का दर्जा नहीं देती न ही सम्मान जनक मानदेय जारी करती है। साथ ही कार्यकर्त्रियों में जोश भरते हुए कहा कि अभी तक हम लोग सांकेतिक रूप से धरनारत रहे, अब आगामी 15 मार्च को हम लोग लखनऊ के लिए कूच करेंगे और 16 मार्च को अपने हक-हकूक के लिए प्रदेश व्यापी धरने का हिस्सा बनेंगे।

जिला उपाध्याय नीतू पांडेय ने कहा कि योगी सरकार जिस तरह से आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों के साथ वादाखिलाफी कर रही है उसी तरह आगामी चुनाव में हम उसे सबक सिखायेंगे। श्रीमती पांडेय ने कहा कि सरकार की नियत में खोट है वह केवल मंचों पर महिला सशक्तिकरण की बात करती है लेकिन जब हम आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों के लिए कुछ करने का समय आता है तो वह मुकर कर अपने वास्तविक चरित्र का परिचय देती है, जिसे हम कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। धरने को अपना समर्थन देते हुए श्रमिक नेता प्रभुनारायण पांडेय ने कहा कि सरकार कर्मचारियों की आवाज को दबाना चाहती है, यह सरकार कर्मचारी हितैषी नहीं बल्कि कर्मचारियों के आवाज को कुचलने में विश्वास रखती है, जहां कहीं भी संगठन को मेरी आवश्यकता पड़ेगी, मैं उसके लिए सदैव तत्पर रहूंगा।

धरने में प्रमुख रूप से नीतू पांडेय, सुमित्रा सिंह, शीला सिंह, उषा सिंह, कंचन मिश्रा, प्रतिभा, वंदना, रानी मौर्या, अर्चना सिंह, सीमा सिंह, विद्या देवी, सुमन सिंह, अनुराधा, सुनीता, लाली किरन यादव, प्रतिमा, हेमावती देवी, सुशीला सिंह आदि सहित भारी संख्या में कार्यकर्त्रियां मौजूद रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *