कोटेदार दे रहे सरकार को धोखा

कोटेदार दे रहे सरकार को धोखा

राशन कार्ड पर फर्जी सदस्यों के नाम जोड़कर लगा रहे है राजस्व चुना।

संवाददाता रन्धा सिंह

चन्दौली (वशिष्ठ वाणी):। डीडीयू नगर कोटेदार राशन कार्ड पर फर्जी सदस्यों का नाम जोड़कर सरकार को दे रहे है धोखा। खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत सरकार द्वारा पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को सस्ते दर पर राशन उपलब्ध कराने की योजना में भी अब घपला नजर आने लगा है। वितरण प्रणाली में पारदर्शिता रहे इसके लिए सरकार की तरफ से ऑनलाइन व्यवस्था की गई लेकिन तू डाल डाल मैं पात पात की तर्ज पर कोटेदार द्वारा ज्यादातर कार्डो में अवैध तरीके से यूनिट वृद्धि कर दे रहे हैं। या यूं कहें तो ऐसे लोगो का नाम जोड़ दे रहे जिनको वह परिवार जानता ही नही है। ऐसे में अवैध को वैध करार देकर कोटेदार सरकार को चकमा देकर लगा रहे है राजस्व को चुना।

मामले का खुलासा तब हुआ जब एक कार्ड धारक ने इस बात की शिकायत जनसुनवाई पोर्टल पर की।संबंधित विभाग के अधिकारियों की मिली भगत से फल फूल रहे इस घपलेबाजी में कोटेदार को क्लीन चिट दे दी गयी लेकिन शिकायतकर्ता अभी करवाई से संतुष्ट नही इसलिए अब मामला तूल पकड़ने लगा है।

आपको बता दे कि वेस्टर्न बाजार स्थित कोटेदार रन्नो देवी जिनका दुकान क्रमांक 10660019 है।शिकायतकर्ता ने शिकायत की है कि उनके पात्र गृहस्थी कार्ड में परिवार के कुल सदस्यों की संख्या 5 होनी चाहिए जबकि कोटेदार ने 4 अन्य लोगो का बायोमैट्रिक डेटा फीड कराकर 4 यूनिट का खाद्यान्न स्वयं लेती रही हैं।

IMG 20210604 WA0286

देखा जाय तो ऐसे कई कार्ड और भी है जिनमे स्थानीय स्तर के विभागीय अधिकारियों से मिल कर गड़बड़ी कर जरूरतमंदों के खाद्यान्न पर डाका डालने का कार्य हो रहा है और लोग जानकारी होने पर भी इसका विरोध नही कर पा रहे हैं क्योंकि ऐसे कोटेदारों को अधिकारियों का खुला संरक्षण प्राप्त है।इस संबंध में पूछे जाने पर पालिका के एआरओ श्याम लाल ने बताया कि मामला संज्ञान में आने पर जांच कराई जाएगी और कार्रवाई भी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *