श्री हनुमान सेवा ट्रस्ट की भूमि पर चल रहा त्रिपाल के आड़ में मकान निर्माण का खेल,बीते दिनों हनुमान दास के गुहार पर प्रशासन ने रोकवाया था निर्माण

श्री हनुमान सेवा ट्रस्ट की भूमि पर चल रहा त्रिपाल के आड़ में मकान निर्माण का खेल,बीते दिनों हनुमान दास के गुहार पर प्रशासन ने रोकवाया था निर्माण

भवन निर्माण कार्य शुरू होने से साधु संतों में आक्रोश व्याप्त संतों ने पूर्व में ड़ीएम से लगाया था कब्जा बेदखल कर भूमि को कब्जा मुक्त कराने का गुहार आज तक नही हुई सुनवाई,बन्दी का फायदा उठाकर किया जा रहा अवैध निर्माण

संवाददाता:-कमलेश गुप्ता

*रोहनिया/-स्थानीय थाना क्षेत्र के नेशनल हाईवे से लबे कचनार गांव में श्री हनुमान सेवा ट्रस्ट की करोड़ो की भूमि पर दबंगो की पैनी निगाह गड़ी है वे जबरदस्ती ट्रस्ट की भूमि पर त्रिपाल के आड़ में कब्जा कर मकान बनाने का कार्य धड़ल्ले से कर रहे।इसकी जानकारी होते ही श्री हनुमान सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष/महंत स्वामी हनुमान दास महाराज अपने साधु संतों व महात्माओं के साथ मिलकर पूर्व में ड़ीएम से अवैध कब्जेदार से ट्रस्ट की भूमि को मुक्त कराने की गुहार बीते मार्च माह में लगाया था।कचनार गांव में श्री हनुमान सेवा ट्रस्ट (प्राचीन हनुमान मंदिर)के नाम आराजी नम्बर 631 क रकबा 12 डिसमिल यानी 49 एयर सरकारी अभिलेख में दर्ज है।विदित हो कि ट्रस्ट के करोड़ो रूपये की सम्पत्ति पर पड़ोस के ही सामू राजभर पुत्र जीता का टेढ़ी नजर काफी वर्षो से था‚जिसमे वह वर्तमान समय में त्रिपाल के आड़ में अवैध कब्जा कर मकान का निर्माण कार्य किया जा रहा।इसकी जानकारी होने पर उक्त ट्रस्ट के अध्यक्ष/महंत स्वामी हनुमान दास महाराज व उनके शिष्य दयानंद दास महाराज उर्फ ब्रम्हचारी बाबा ने अपने साधु संतों व महात्माओं के साथ मिलकर मार्च माह में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के यहां शिकायती पत्र देकर उक्त भूमि से कब्जेदार को बेदखल करने का गुहार लगाया था।अध्यक्ष/महंत स्वामी हनुमान दास ने बताया कि सामू राजभर नामक व्यक्ति ने ट्रस्ट की करोड़ो की भूमि को कब्जाने के लिए सीओ चकबंदी के यहां और हाईकोर्ट इत्यादि जगहों पर मुकदमा दायर किया था‚लेकिन सभी जगहों से मुकदमा खारिज होने के बाद वह क्षेत्रीय लेखपाल सहित राजस्व कर्मियी को अपने प्रभाव में लेकर कब्जा करने का कार्य कर रहा है‚जो बेहद दुःखद है।महंत ने बताया कि राजस्व विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कोर्ट से बेदखल करने का आदेश जब तक नही लायेंगे हम लोग किसी का कब्जा नही रुकवा सकते लेकिन बन्दी के दौरान कोर्ट बन्द होने के कारण अभी तक बेदखली का आदेश नही हो पाया है जिसका फायदा उठाते हुए उक्त कब्जेदार त्रिपाल के आड़ में अवैध कब्जा करने का कार्य कर रहा है।वही इस सम्बन्ध में उप जिलाधिकारी राजातालाब सिद्धार्थ यादव का कहना रहा कि उक्त प्रकरण के बाबत मैं क्षेत्रीय लेखपाल को तत्काल मौका मुआयना करके रिपोर्ट लेने का कार्य कर रहा हूँ जो भी अवैध कब्जा कर रहा है उसके खिलाफ जांचोपरांत दोषी पाए जाने पर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *