प्रत्याशियों ने वोट के लिए भाग

प्रत्याशियों ने वोट के लिए भाग

  • दौड़ कम कर दिया आरक्षण सूची के कारण

रिपोर्टर: प्रदीप दुबे

गाजीपुर: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की आरक्षण सूची जारी न होने से संभावित प्रत्याशी पशोपेश में है। वे इस बात से परेशान और निराश है कि कहीं आरक्षण सूची जारी होने के बाद उनके चुनावी सपने पर पानी न फिर जाए। इसी सोच को लेकर संभावित प्रत्याशियों ने वोट के लिए भाग-दौड़ कम कर दिया है। आरक्षण सूची को लेकर सबसे ज्यादा वह संभावित प्रत्याशी परेशान है, जो कुर्सी की लालच में लाखों फूंक चुके है।

वैसे तो त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जीत का सेहरा पहनने के लिए संभावित प्रत्याशियों द्वारा महीनों से सियासी जमीन तैयार करने का कार्य किया जा रहा है। वह लोगों से मिलने-जुलने के साथ ही उनके सुख-दुख में शामिल होकर सियासत का मरहम लगा रहे हैं। लोगों की मतदाता रूपी लोगों की हर छोटी-बड़ी परेशानियों को अपना समझकर उसका समाधान कराने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं, लेकिन अभी तक आरक्षण सूची जारी न होने से संभावित प्रत्याशी पशोपेश में हैं।

उनके द्वारा वोट के लिए किए जाने वाले भाग-दौड़ की रफ्तार काफी हद तक कम हुई है। संभावित प्रत्याशी इस बात से परेशान है कि कहीं आरक्षण सूची जारी होने के बाद उनके चुनाव लड़ने के सपने पर पानी न फिर जाए। खास बात है कि कई ऐसे संभावित प्रत्याशी भी है, जो वोट की लालच में समाजसेवी का चोला पहनकर महीनों से लोगों की सेवा करते रहे हैं। शारीरिक परिश्रम के साथ ही आर्थिक मदद करते हुए लाखों रुपया फूंक चुके है। ऐसे प्रत्याशियों ने भी अभी तक आरक्षण सूची जारी न होने पर अपने समाजसेवा की रफ्तार को धीमी कर दिया है।

सियासत के चक्कर में लाखों फूंकने वाले ऐसे संभावित प्रत्याशियों को इस बात की चिंता सता रही है कि कहीं आरक्षण सूची उनके मुताबिक नहीं हुई तो एक तरफ महीनों वोट के लिए किए गए मेहनत पर पानी फिर जाएगा, वही इस बात का अफसोस होगा कि जीत का ताज पहनने के सपने के चक्कर में हमने लाखों गवां दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *