सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों की मनमानी और तानाशाही ने किसान को परेशानी

सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों की मनमानी और तानाशाही ने किसान को परेशानी

संवाददता प्रदीप दुबे

गाजीपुर । में सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों की मनमानी और तानाशाही ने किसान को चक्करघिन्नी की तरह नचा रहे है। ऐसे में इन किसानों इनकी पीड़ा को कोई दूर करने वाला भी नजर नहीं आ रहा है। जी हां मामला गाजीपुर जिले के करंडा ब्लॉक के लखनचंदपुर गेंहू क्रय केन्द्र का है। जहां पर पिछले आठ दिन से एक दर्जन किसान ट्रैक्टरों से अनाज लेकर खड़े अपनी गेंहू की खरीददारी की प्रतीक्षा कर रहे हैं। वहीं किसान मौसम के मिजाज को देखते हुए उनके माथे पर बल साफ नजर आ रहा है। पिछले तीन दिनों से हो रही बारिश के कारण चारो तरफ हुए जलजमाव और गीली मिट्टी की वजह से पेड़ों के नीचे जहां तहां बैठकर दिन-रात जैसे तैसे काट रहे हैं। उधर मोटी तनख्वाह पाने वाले अधिकारी खराब मौसम का बहाना बनाकर केंद्र पर नहीं आ रहे है। वहीं गेंहू क्रय केंद्र पर अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही और देखने को मिली जहां पर किसानों से खरीददारी की गई गेंहू को खुले आसमान के नीचे छोड़ दिया। जिसकी वजह से क्रयकेंद्र पर रखे गेंहू भींग जाने की वजह से उसमें अंकुर निकल गए है। जो तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है। फिलहाल मामले की जानकारी जब डीएम एमपी सिंह को हुई तो तत्काल एक्शन लेते हुए तहसीलदार और एआरएमओ को मौके पर जांच करने के लिए भेज दिया। इस दौरान डीएम ने कहा कि इस तरह की लापरवाही कभी बर्दास्त नहीं कि जाएगी। हम जांच करा रहे है और जो भी दोषी पाया जाएगा उसके विरुद्ध दण्डनात्मक कार्रवाई की जाएगी
करंडा ब्लॉक के लखनचंदपुर गेंहूँ क्रय केंद्र पर गेंहू खरीददारी को लेकर इस खराब मौसम में किसान परेशान है। पिछले 8 दिनों से किसान अपने गेंहू को क्रय केंद्र पर बिक्री के टोकन मिलने के बावजूद भी प्रतीक्षा कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *