तहसील प्रशासन ने 13 वर्ष पुराने भूमि विवाद को निपटाया

तहसील प्रशासन ने 13 वर्ष पुराने भूमि विवाद को निपटाया

महेश पाण्डेय ब्यूरो चीफ

वाराणसी/पिंडरा: पिंडरा ग्राम सभा के मिराशाह स्थित वर्षों से विवादित क़ब्रिस्तान के मामले को पुलिस प्रशासन द्वारा 3 घण्टे की कड़ी मशक्कत के बाद श्रावस्ती माडल पर 13 वर्ष पुराने विवाद को हल कराने में सफलता हासिल की। इस दौरान कई बार दोनों पक्ष आमने सामने भी आये लेकिन भारी फोर्स व एसडीएम के कड़े तेवर देख पीछे हट गए। तहसील पर लगे भूमि विवाद पेटिका में पड़े शिकायती पत्र के क्रम में निस्तारण हेतु बुधवार को सुबह साढ़े 11 बजे के लगभग एसडीएम पिंडरा जयप्रकाश व इंस्पेक्टर फूलपुर दुर्गेश मिश्र पुरुष व महिला फोर्स के साथ मौके पर पहुचे और दोनों पक्षो को आमने सामने बैठाकर विवाद की स्थिति को समझा ।

उसके बाद पैमाइश कर कब्रिस्तान की भूमि की सीमांकन किया। 3 घण्टे तक चली किचकिच व पंचायत के दौरान कई बार ऐसे भी मौके आये जब दो समुदाय के लोग आमने सामने आ गए। लेकिन एसडीएम के सूझबूझ के चलते मामला शांत हुआ। दोनों पक्षो के बार बार नापी के दौरान आपत्ति जताने पर तीन बार सीमांकन हुआ तब जाकर लोग शांत हुए। बताते वर्ष 2007 से निजी आराजी में स्थित कब्रिस्तान की भूमि को लेकर पड़ोसी काश्तकारो से सीमा विवाद था।

जबकि इसके पूर्व पक्की पैमाइश के साथ सीमांकन भी हो चुका था। मिराशाह निवासी शखावत उल्ला ने तहसील में स्थापित भूमि विवाद पेटिका में उक्त जमीन के निस्तारण के लिए शिकायती पत्र डाला था। उसी क्रम में तहसील प्रशासन पुलिस पहुची थी। 307 एयर भूमि के सीमांकन के लिए लेखपाल कपीस तिवारी व अभिषेक कुमार समेत अनेक लेखपाल उपस्थित रहे। बताते चलें कि उक्त भूमि को लेकर कई बार दो समुदाय के लोग आमने सामने आ गए थे। पुलिस प्रशासन के हस्तक्षेप पर मामला शांत हो पा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *