महाशिवरात्रि पर्व पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था

महाशिवरात्रि पर्व पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था

महेश पाण्डेय ब्यूरो चीफ

वाराणसी: महाशिवरात्रि का त्योहार भगवान शिव को समर्पित है । यह 11 मार्च 2021 , गुरूवार के दिन फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को पूरे भारत में मनाया जा रहा है| महाशिवरात्रि का महत्व अत्यधिक है इसी दिन बाबा भोलेनाथ व मां पार्वती का विवाह हुआ था। महाशिवरात्र‍ि के दिन शिव जी का विभिन्न पवित्र वस्तुओं से पूजन एवं अभिषेक किया जाता है और बिल्वपत्र, धतूरा, अबीर, गुलाल, बेर, उम्बी आदि अर्पण किया जाता है। महाशिवरात्र‍ि भगवान भोलेनाथ की आराधना का ही पर्व है, धर्मप्रेमी लोग महादेव का विधि-विधान के साथ पूजन अर्चन करते हैं और उनसे आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। इस दिन काशी विश्वनाथ मंदिर में बड़ी संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ती है, जो शिव जी का दर्शन-पूजन कर खुद को सौभाग्यशाली मानती है।

1 3


महाशिवरात्रि पर्व पर श्रद्धालुओं की होने वाली भीड़ को को देखते हुए 95 बटालियन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल काशी विश्वनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था और भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पूरी तरह से मुस्तैदी से देखी गई।


ज्ञानवापी स्थित काशी विश्वनाथ दरबार के क्षेत्र का निरीक्षण करने पहुंचे 95 बटालियन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के कमांडेंट श्री अनिल कुमार वृक्ष ने महाशिवरात्रि पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ को देखते हुए इसे नियंत्रित करने और मंदिर परिसर की की सुरक्षा व्यवस्था का परिवेक्षण किया । इस दाैरान मंदिर में श्रद्धालुओ की सुरक्षा व्यवस्था का भी जायजा लिया।सुरक्षा के बाबत सभी कार्मिक एलर्ट रहे इसके लिए वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सभी को दिशानिर्देश देते देखा गया की भक्तों को सुगमतापूर्वक दर्शन मेंसहूलियत रहे साथ ही सुरक्षा में कोइ लापरवाही न हो।


इस अवसर पर सीआरपीएफ के डीआईजी श्री डी एल गोला वी डीआईजी राकेश कुमार की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। महाशिवरात्रि के अवसर पर अतिरिक्त संख्या बल के साथकी अतिरिक्त टीमो को तैनात करके सतर्कता बरती गई। इस अवसर पर 95 बटालियन सीआरपीएफ कमान अधिकारी परिचालन श्री नीतीन्द्र नाथ व अन्य ओहदेदारों के साथ सुरक्षा व्यवस्था की बनी रूपरेखा को ग्राउंड स्तर पर प्रत्यक्ष रूप से निस्पादित किया गया जिससे परिसर क्षेत्र के सभी कार्मिक ड्यूटी पर चाक-चौबंद दिखे।


साथ ही केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा दर्शनार्थियों स्वास्थ सुविधा के लिए के लिए एक मेडिकल बूथ भी स्थापित किया गया जिससे दर्शनार्थियों को आवश्यकतानुसार चिकित्सीय सहायता और दवाएं उपलब्ध कराया जा रहा था तथा सीआरपीएफ के कार्मिक पूरे समर्पण की भावना से सेवाभाव से युक्त उत्साहित दिखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *