युवा पीढ़ी हेतु संस्कार वाटिका कार्यक्रम 16 मई से

युवा पीढ़ी हेतु संस्कार वाटिका कार्यक्रम 16 मई से

Epaper Vashishtha Vani

राजस्थान: लगभग पन्द्रह महीने होने को है जब हमारे नौनिहाल घर की चारदीवारियों में बंद है। ना स्कूल जाना, ना पार्क में दौड़-भाग, ना मम्मी पापा के साथ ड्राइव पे जाना, ना दोस्तों की बर्थ डे पार्टियाँ, ना ही छत, पड़ोस या गली-मोहल्ले का राउंड। है तो बस चौबीसों घण्टे महामारी से सतर्कता की हिदायत, मुँह पर मास्क (Mask) लगाकर रखने की समझाइश और सेनिटाइजर (Sanitizer) के प्रयोग की विधि का ज्ञान।

महामारी की बंदिशों में बंधे बचपन को निकालने की अनुपम पहल

अचानक बच्चों को एक ऐसी दिनचर्या का पालन करना पड़ रहा है जिसकी उन्हें कोई कल्पना ही नहीं थी। हर समय घर में बड़ों को महामारी से बीमार हो रहे अपनों की चिन्ता करते, मौत के मुँह में समाते स्वजनों का दुःख करते व कोरोना से बन रहे देश के डरावने हालात की चर्चा करते सुनकर उत्पन्न हो रहे अनजाने भय से भयभीत होते इन फूल से बच्चों के बारे में सोचकर ही व्यथित हो जाना स्वाभाविक है। इन नन्ही कलियों के धैर्य तथा समय से पूर्व आ रही परिपक्वता को समझते हुए विप्र फाउंडेशन (Vipra Foundation) एवं गीता परिवार द्वारा संयुक्त रूप से सद्गुण एवं संस्कार विकसित करने के उद्देश्य से आगामी 16 से 31 मई 2021 तक ई-संस्कार वाटिका (E-Sanskar Vatika) का विश्वव्यापी आयोजन किया जा रहा है।

इस ओनलाइन आयोजन में देश-दुनिया के दो लाख प्रतिभागियों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। विप्र फाउंडेशन (Vipra Foundation) जोन-1 बी राजस्थान (Rajasthan) की महिला प्रदेशाध्यक्ष मंजू शर्मा (Manju Sharma) ने बताया कि गीता परिवार ने इस आयोजन में विप्र फाउंडेशन महिला प्रकोष्ठ को अवसर प्रदान किया है। विप्र फाउंडेशन (Vipra Foundation) परिवार राष्ट्रीय स्तर पर इस विशिष्ट आयोजन में अधिक से अधिक संख्या में भावी पीढ़ी को सम्मिलित कर उनमें संस्कार ज्योति प्रज्जवलित करने का प्रयास करेगा।

विप्र फाउंडेशन महिला प्रकोष्ठ प्रदेश महामंत्री संगठन आशा पारीक (Asha Parik) ने बताया कि इस अभियान के लिए संगठनात्मक बैठक विफा के अंतरराष्ट्रीय संयोजक सुशील ओझा (Sushil Ojha) तथा गीता परिवार के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हरिनारायण व्यास (Harinarayan Vyaas) तमिलनाडु के नेतृत्व में आयोजित की गई। जिसमें विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री सीए सुनील शर्मा (Sunil Sharma) मुम्बई द्वारा संगठनात्मक दृष्टि से इस अभियान को राष्ट्रीय स्तर पर अलग अलग क्षेत्रों में बांटा गया है। जिसमें राष्ट्रीय प्रभारी पूनम शर्मा (Poonam Sharma), राष्ट्रीय समन्वयक दुर्गा व्यास तथा गीता परिवार की ओर से हरिनारायण व्यास को संचालक बनाया गया है।

जोन 1 बी राजस्थान महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश उपाध्यक्ष शोभा सारस्वत बीकानेर को उत्तर क्षेत्र की प्रभारी बनाया गया है। जिसमें राजस्थान जोन 1 बी के साथ पंजाब एवं हरियाणा प्रदेश को शामिल किया गया है। क्षेत्रीय प्रभारी शोभा सारस्वत ने बताया कि उत्तर क्षेत्र में न्युनतम चालीस ग्रुप प्रभारी बनाकर दस हजार बच्चों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। पांच से पन्द्रह वर्ष के बच्चों को ई-संस्कार शिविर से जोड़ा जा रहा है जो घर बैठे ही मोबाइल, लेपटोप अथवा अन्य ओनलाइन इंटरनेट माध्यम का उपयोग कर रहे हैं।

आगे बताया कि संस्कार वाटिका से एक ओर जहाँ संस्कार, संस्कृति, मनोरंजन एवं तकनिकी का ज्ञान होगा वहीं दूसरी ओर घर में अकेले कार्टून मूवीज, यू ट्यूब पर किड्स शो देखकर एकाकियत से बोर हो चुके बच्चों को हमउम्र साथियों से वर्च्युअली मिलने, बातें करने, बाहरी दुनियाँ से जुड़ने का अहसास होगा। प्रातः वंदनीय स्वामी श्री गोविन्ददेव गिरी जी महाराज की आशीर्वचन से उज्ज्वल भविष्य की नींव रखे जाने में यह आयोजन सहायक सिद्ध होगा।

ई-संस्कार वाटिका में गीता परिवार एवं विप्र फाउंडेशन महिला प्रकोष्ठ के साथ-साथ अखिल भारतीय माहेश्वरी महिला संगठन किशोरी एवं बाल विकास समिति तथा वनबंधु परिषद राष्ट्रीय महिला समिति भी सहयोग कर रहीं हैं। उत्तर क्षेत्र से सुनिता पारीक, विजयलक्ष्मी कश्यप, सीमा मिश्रा, कीर्ति सुरोलिया, गायत्री शर्मा, शीला आसोपा, कुसुम शर्मा, पूजा दूबे, मंजू शर्मा तथा आशा पारीक मुख्य भूमिका निभा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *