• संवाददाता रूपेश कुमार राज

सन्हौला अस्पताल में एक के बाद एक मामले का हो रहा है उजागर अस्पताल के अधिकांश कर्मी अस्पताल प्रभारी एवं मैनेजर के खिलाफ लगातार हो रही है जांच

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सनहौला में लाखों का घोटाला के साथ फर्जी करोना सर्टिफिकेट देने का हुआ खुलासा

वशिष्ठ वाणी। भागलपुर जिले के सनहौला प्रखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सनहौला में व्याप्त अराजकता एवं भ्रष्टाचार की लगातार हो रही है जांच इसी क्रम में 28 दिसंबर को क्षेत्रीय अपर निर्देशक भागलपुर के द्वारा विवाद में चल रहे हेल्थ मैनेजर एवं अस्पताल प्रभारी के खिलाफ लगातार 4 घंटे तक चली जांच में बहुत सारे बड़े बड़े खुलासे हुए हैं जो सबको चौंका देंगे आपको बता दें कि इतने बड़े खुलासे के विषय में कभी किसी ने सोचा नहीं होगा अब तो लाखों का घोटाला सामने आने लगा वही जांच में आया अधिकारी द्वारा यह बताया गया कि हॉस्पिटल के अधिकांश कर्मचारी द्वारा यह कहा गया।

यह वायरल ऑडियो हेल्थ मैनेजर की है इस ऑडियो को जिस अस्पताल कर्मचारी पंकज कुमार ने रिकॉर्ड किया है उन्होंने का यह ऑडियो मैंने रिकॉर्ड किया और यह हेल्थ मैनेजर का है लेकिन वही हेल्थ मैनेजर ने कहा ऑडियो मेरा नहीं है।

सबसे बड़ी बात यह हेल्थ मैनेजर कितने नासमझ साबित हो रहे हैं जब उनकी आवाज है उन्हें अपनी गलती को स्वीकार करना चाहिए उसके बाद वह अपने आप को बड़ा समझ रहे हैं।

साथ ही विभिन्न और आरोपों का जांच हुआ सभी आरोप सत्य पाया गया वही जांच में आए उच्च अधिकारी से यह भी जानकारी दे दिया गया की हेल्थ मैनेजर पत्रकारों को ही धमकाते हैं फर्जी वकालतनामा नोटिस भेज पाते हैं।

उच्च अधिकारी ने आश्वासन दिया कि बहुत जल्द हेल्थ मैनेजर एवं अस्पताल प्रभारी पर कार्रवाई होगी ताकि आगे कोई भी हेल्थ मैनेजर एवं अस्पताल प्रभारी इस तरह की गलती करने से पहले सोचे वहीं जांच में आया अधिकारी ने यह भी कहा कि बहुत जल्द इन सारे विवादों से सनहौला अस्पताल एवं यहां के हेल्थ कर्मचारी सबको मुक्त कर दिया जाएगा लेकिन सबसे बड़ी खुलासा किया है कि हजारों की संख्या में फर्जी करोना वैक्सीन का जो सर्टिफिकेट बांटा गया है इस पर क्या सजा मिलेगी हेल्थ मैनेजर को सबसे अधिक शुरुआत यह देखने योग होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post कोरोना की तीसरी लहर का बढ़ता संकट एवं चुनाव
Next post जिला परिषद अध्यक्ष बने आनंद कुमार उर्फ टुनटुन साह एवं उपाध्यक्ष बने प्रणव कुमार