ग्राम विकास में पंचायतों की भूमिका

ग्राम विकास में पंचायतों की भूमिका

  • उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव 2021 के विशेष संदर्भ में एकदिवसीय सेमिनार का आयोजन हुआ

संवाददाता विनोद कुमार सिंह

सेवापुरी: स्थानीय पं0 दीनदयाल उपाध्याय राजकीय बालिका महाविद्यालय में आज दिनांक 18 मार्च 2021 को “ग्राम विकास में पंचायतों की भूमिका: उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव 2021 के विशेष संदर्भ में’ एकदिवसीय सेमिनार का आयोजन हुआ। सेमिनार का दीप प्रज्वलन द्वारा उद्घाटन महाविद्यालय की यशस्वी प्राचार्य प्रो यशोधरा शर्मा, चन्द्रशेखर प्राण, पारसनाथ द्विवेदी, डॉ रविप्रकाश गुप्ता, सुश्री गीता रानी शर्मा, डॉ कमलेश कुमार वर्मा ने किया। उन्नत भारत अभियान के संयोजकत्व में आयोजित इस सेमिनार के आयोजन सचिव डॉ रविप्रकाश गुप्ता ने आगंतुक अतिथियों का स्वागत करते हुए विषय प्रवर्तन किया।

महाविद्यालय की विदुषी प्राचार्य डॉ यशोधरा शर्मा ने कहा कि ग्राम पंचायतें संवैधानिक शासन प्रणाली की आधारशिलाएं हैं, इनके सशक्त होने से हमारी संसदीय व्यवस्था मजबूत होगी। महिलाएं देश की आधी आबादी हैं और इस आधी आबादी के शासन व्यवस्था में प्रतिनिधित्व किये बिना समग्र राष्ट्र के विकास की कल्पना फलीभूत नहीं होगी, उल्लेखनीय है कि प्रो0 यशोधरा शर्मा ने सेमिनार के सबसे महत्वपूर्ण उप विषय “पंचायतों में महिलाओं की भागीदारी, आधी हकीकत आधा फ़साना” पर अपने विचार व्यक्त हुए सशक्त राष्ट्र के निर्माण में महिलाओं की भूमिका को अनिर्वचनीय बताया।

मुख्य अतिथि चन्द्रशेखर प्राण ने सेमिनार का बीज वक्तव्य प्रस्तुत करते हुए कहा कि भारत में पंचायतीराज व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने एवं संवैधानिक अधिकार प्रदान करने के दृष्टिकोण से 1992 में भारत के संविधान में 73 वां संशोधन किया गया, उन्होंने आगे बताया कि भारतीय संविधान द्वारा आपको नागरिक अधिकार प्रदान किये गये हैं, उनका उपयोग करते हुए ग्राम , प्रांत और राष्ट्र के विकास में अपना समग्र योगदान दें।

आज के सेमिनार के उप-विषय- पंचायतीराज व्यवस्था के सशक्तिकरण में शिक्षण संस्थाओं की भूमिका, पंचायतों में महिलाओं की भागीदारी: आधी हकीकत,आधा फ़साना एवं उत्तर प्रदेश में पंचायतीराज व्यवस्था- दशा एवं दिशा पर पर सुरेश कुमार शुक्ला, डॉ हरेंद्र प्रताप सिंह, आशीष कुमार सिंह- ऊबा, बी एच यू वाराणसी, प्रमोद कुमार पाण्डेय, डॉ अनीता सिंह, डॉ पारसनाथ द्विवेदी, अशोक कुमार सिंह, नन्दलाल आदि ने पंचायती राज व्यवस्था को सशक्त बनाने के लिए नागरिकों की भूमिका का निर्धारण किया।

पं0 दीनदयाल उपाध्याय राजकीय बालिका महाविद्यालय सेवापुरी के उन्नत भारत अभियान प्रकोष्ठ ने सेवापुरी क्षेत्रान्तर्गत भीषमपुर, राम डीह, घोषिला, मटुका और गजेपुर- गांवों में आधारभूत परिवर्तन लाने के लिए, उनके समग्र विकास हेतु गोद लिया गया। इस अवसर पर उन्नत भारत अभियान के स्वयंसेवकों और राजनीति विज्ञान के मेधावी छात्राओं को मेधाविता सम्मान से सम्मानित किया गया।

डॉ कमलेश कुमार वर्मा ने कार्यक्रम का संचालन और धन्यवाद ज्ञापन डॉ सत्यनारायण वर्मा ने किया, जबकि गीता रानी शर्मा ने उन्नत भारत अभियान के संदर्भ में अपना बहुमूल्य विचार प्रस्तुत किया। डॉ राम कृष्ण गौतम, डॉ अर्चना गुप्ता, डॉ आशा, डॉ सर्वेश कुमार सिंह, प्रो घनश्याम कुशवाहा, डॉ कमलेश कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे, तकनीकी संयोजन डॉ सौरभ सिंह ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *