Fri. Feb 23rd, 2024

Ram Mandir Ayodhya: पहले ही दिन लाखों श्रद्धालुओं ने किए रामलला के दर्शन, शहर में 8 स्थानों पर तैनात हुए मजिस्ट्रेट 

Ram Mandir

Ram Mandir Ayodhya: अयोध्या में नवनिर्मित राम मंदिर में सोमवार को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद आधी रात से ही श्रद्धालुओं का दर्शन के लिए जमावड़ा लगने लगा था और मंगलवार देर शाम तक 5 लाख से अधिक श्रद्धालु भगवान राम के बाल स्वरूप का दर्शन कर चुके थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जिलाधिकारी अयोध्या ने शहर में 8 स्थानों पर मजिस्ट्रेट तैनात कर दिए हैं श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के मद्देनजर कई बार भीड़ काबू से बाहर होती दिखी लेकिन पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों ने स्थिति को तुरंत संभाल लिया और लोगों को कतार में खड़ा करवाकर भगवान राम के दर्शन कराये। सूचना निदेशक शिशिर ने मंगलवार देर शाम जारी एक बयान में बताया कि आज 5 लाख श्रद्धालुओं ने रामलला के दर्शन किये हैं।

श्री अयोध्या धाम में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर परिसर का स्थलीय निरीक्षण किया: CM योगी

मिली जानकारी के मुताबिक, इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देर शाम सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर जारी पोस्ट में बताया,”आज श्री अयोध्या धाम में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर परिसर का स्थलीय निरीक्षण किया। इस अवसर पर संबंधित अधिकारियों को पूज्य साधु-संतों व श्रद्धालुओं हेतु प्रभु श्री रामलला के सुलभ एवं सहज दर्शन के साथ ही सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुचारू रूप से संचालित करने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।” देर रात जारी एक बयान के मुताबिक श्रीरामलला के बालरूप विग्रह की प्राण-प्रतिष्ठा अनुष्ठान के अगले दिन अयोध्या में उमड़े लाखों श्रद्धालुओं के सुगम दर्शन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जमीन स्तर पर खुद मोर्चा संभाल लिया है। मंगलवार को अचानक अयोध्या पहुंचे मुख्यमंत्री ने पहले हवाई सर्वेक्षण कर स्थिति का जायजा लिया फिर स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक कर श्रद्धालुओं की सुरक्षा, सुविधा और सहूलियत के लिए आवश्यक इंतजाम करने के लिए दिशा-निर्देश दिया। इसके बाद श्री रामजन्मभूमि मंदिर पहुंचे मुख्यमंत्री ने मंदिर न्यास के पदाधिकारियों के साथ दर्शन के लिए उमड़ रहे भारी संख्या श्रद्धालुओं के प्रबंधन, दर्शन-पूजन व्यवस्था को और व्यवस्थित करने पर चर्चा की।

CM योगी के निर्देश पर जिलाधिकारी अयोध्या ने 8 स्थानों पर तैनात कर दिए मजिस्ट्रेट

इस बीच, मुख्यमंत्री ने देश के हर कोने से आ रहे श्रद्धालुओं से संयम और सहयोग की अपील की है। आस्थावानों की भावना का सम्मान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा है कि अयोध्या में उमड़े जनसलाब के बीच सबको रामलला के दर्शन हों, इसके लिए संयम बनाये रखें। मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिलाधिकारी अयोध्या ने 8 स्थानों पर मजिस्ट्रेट तैनात कर दिए हैं। इन मजिस्ट्रेट को शांति, सुरक्षा, यातायात व लोक व्यवस्था के प्रबंधन के लिए लगाया गया है। श्रद्धालुओं के सुगम व सुरक्षित दर्शन हेतु अयोध्या पुलिस द्वारा सभी ड्यूटी प्वाइंटों पर पुलिस बल तैनात कर रही सतर्कता बरती जा रही है। जनपद के सभी अन्तरजनपदीय बार्डर, बैरियर, चेक प्वाइंट पर पुलिस बल की ड्युटी लगाकर जनपद मे आने वाले सभी संदिग्ध वाहनों, व्यक्तियों की चेकिंग की जा रही है। साथ ही सभी महत्वपूर्ण स्थानों, होटल, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन पर संदिग्ध वाहनों, व्यक्तियों की जांच की जा रही है। किसी भी तरह के अफवाह को रोकने के सोशल मीडिया प्लेटफार्म्स पर भी सतर्क नजर रखी जा रही है। मुख्यमंत्री ने भीड़ के बीच लगातार आवश्यक सूचनाओं की उद्घोषणा करने के निर्देश भी दिए, साथ ही कहा कि नगर में स्वच्छता की स्थिति बनाए रखी जाए। दूसरी ओर श्रद्धालुओं के समूह छोटी-छोटी गलियों, रेलवे पटरियों, खेतों से अयोध्या में प्रवेश कर रहे हैं जबकि कुछ सरयू नदी पार कर नगर में प्रवेश कर रहे हैं।

लोगों में मंदिर के अंदर जाने के लिए होड़ मची: पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार

चश्मदीद ने बताया कि जब भीड़ अयोध्या प्रशासन के नियंत्रण से बाहर जाती दिखी तब प्रमुख सचिव (गृह) संजय प्रसाद और पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने भीड़ प्रबंधन की कमान खुद संभाल ली। पुलिस महानिरीक्षक (अयोध्या) प्रवीण कुमार ने कहा कि रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या में बड़ी भीड़ उमड़ी है, हमारा पुलिस बल भक्तों को प्रबंधित करने के लिए चौबीसों घंटे व्यस्त है। अयोध्या में मंगलवार को वही हुआ जो अवश्यम्भावी था। सदियों की प्रतीक्षा के बाद श्रीरामलला सोमवार को अपने नव्य, भव्य, दिव्य मंदिर में विराजमान हुए तो मंगलवार को पौ फटने से पहले ही उनके दर्शन को आतुर लाखों-लाख श्रद्धालु उमड़ पड़े। हाड़ कंपाने वाली ठंड के बावजूद अयोध्या की सड़कों पर आस्था का हुजूम उमड़ पड़ा। धर्मपथ, राम पथ और श्रीराम जन्मभूमि पथ के मार्गों पर तिल रखने की जगह नहीं दिख रही थी। भीड़ के चलते रामलला के कपाट एक घंटे पहले खोले गए। रात तीन बजे से ही दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। लोगों में मंदिर के अंदर जाने के लिए होड़ मची। ऐसे में मंदिर के अंदर खचाखच भीड़ के बीच एटीएस और आरएएफ कमांडो दाखिए हुए। मंदिर के कपाट तो सुबह सात बजे खुले लेकिन रात के दूसरे पहर से ही दर्शनार्थी श्रद्धालुओं की अपरिमित कतार लग गई।

जानिए, क्या कहना है पुलिस महानिरीक्षक अयोध्या, प्रवीण कुमार का?

पुलिस महानिरीक्षक, अयोध्या, प्रवीण कुमार ने कहा कि राम लला के दर्शन के लिए अयोध्या में बड़ी भीड़ उमड़ी है, हमारा पुलिस बल भक्तों को प्रबंधित करने के लिए चौबीसों घंटे व्यस्त है।” सूचना निदेशक शिशिर ने इससे पहले दोपहर में एक न्यूज एजेंसी को बताया था कि आम श्रद्धालुओं के लिए खोले गए मंदिर की व्यवस्था देखने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हवाई मार्ग से अयोध्या पहुंचे हैं।” उन्होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री मंदिर भी जाएंगे।” उन्होंने बताया था कि मंगलवार को रामलला के नवीन विग्रह की करीब ढाई से ती3 लाख श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं और इतने ही लोग दर्शन के इंतजार में हैं। शिशिर ने कहा था कि दोपहर तक ढाई से 3 लाख श्रद्धालु मंदिर में दर्शन कर चुके हैं और इतनी ही संख्या में श्रद्धालु शेष हैं। 8 हजार से अधिक पुलिसकर्मी व्यवस्था की निगरानी कर रहे हैं और सब कुछ नियंत्रण में है।” अयोध्या पुलिस ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही उन अफवाहों का खंडन किया है कि भारी भीड़ के कारण मंदिर को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *