पुलिस कमिश्नर का आदेश, वैक्सीन की दोनों खुराक नहीं लगाई गई तो

पुलिस कमिश्नर का आदेश, वैक्सीन की दोनों खुराक नहीं लगाई गई तो

वाराणसी: कोरोना काल में, पुलिस आयुक्त ने पुलिसकर्मियों के जीवन की रक्षा के लिए एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। आयुक्त ने ऐसे पुलिसकर्मियों को मतगणना शुल्क से छूट दी है जिनके पास टीके की दोनों खुराक नहीं हैं और जिनकी उम्र 45 वर्ष से अधिक है।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले के कोरोना से स्थिति बेकाबू है। इस सब के बीच, वाराणसी के पुलिस आयुक्त ने पंचायत चुनाव के मतगणना शुल्क से 45 वर्ष से ऊपर के पुलिस कर्मियों को छूट दी है, जिन्हें अभी तक टीका की दोनों खुराक नहीं मिली हैं। पुलिस कमिश्नर की माने तो पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य और जीवन की सुरक्षा को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

इसके साथ ही पुलिस कमिश्नर ने एक आदेश भी जारी किया है कि पंचायत चुनाव से लौटने वाले पुलिसकर्मियों को, जिन्हें बुखार, सर्दी, जुकाम और खांसी है, उनके स्वास्थ्य की जांच के लिए पुलिस लाइन में एक विशेष स्वास्थ्य शिविर का आयोजन करना चाहिए। जिन पुलिस कर्मियों में ये लक्षण हैं, उन्हें पहले एंटीजन टेस्ट करवाना चाहिए। जब सकारात्मक, वे उपचार शुरू करते हैं और फिर अपना आरटीपीआर परीक्षण करवाते हैं।

पुलिस आयुक्त ए। सतीश गणेश ने बताया कि चुनाव ड्यूटी से लौटे सभी पुलिसकर्मियों की जांच रिपोर्ट के आधार पर, यदि वे कोरोना के लक्षण दिखाते हैं, तो उन्हें एक सप्ताह के लिए पुलिस उपायुक्त को रिपोर्ट करना चाहिए।

ड्यूटी के दौरान डबल मास्क लगाए
पुलिस कमिश्नर ने कमिश्नरेट में कार्यरत सभी पुलिसकर्मियों को निर्देश भी जारी किए हैं कि सभी पुलिसकर्मी ड्यूटी के दौरान डबल मास्क और हाथ के दस्ताने का इस्तेमाल करें। इससे वे अपनी रक्षा कर सकते हैं।

मात्र 100 रुपये में आप एक वर्ष के लिए ईपेपर वशिष्ठ वाणी दैनिक समाचार पत्र को सब्सक्राइब करें और अपने व्हाट्सएप्प और ईमेल आईडी पर एक वर्ष तक निःशुल्क ईपेपर प्राप्त कर पूरे दुनिया की समाचार पढ़े, और साथ ही एक वर्ष तक अपने विज्ञापन को निःशुल्क प्रकाशित भी करवायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *