केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण देश में पेट्रोल की कीमतें बढ़ी हैं : राणा सुजीत सिंह

केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण देश में पेट्रोल की कीमतें बढ़ी हैं : राणा सुजीत सिंह

ADS BOOK

मुंबई (वशिष्ठ वाणी): “कोरोना काल में आपदा को अवसर बनाकर केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों पर नियंत्रण करने की बजाय भारी भरकम टैक्स वसूलकर लोगों की जेब पर डाका डाल रही है। केंद्र सरकार ने तो जनता के खून चूसने और परेशान करने की कसम ही खा रखी है।”

यह भी पढ़े: निर्देशक प्रमोद शास्त्री की नेक्स्ट फिल्म होगी “आन बान शान”

ऐसा कहना है पूर्वांचल समाज के कद्दावर नेता राणा सुजीत सिंह का जो दिल्ली कांग्रेस कार्यकर्ता पेट्रोल और डीजल की अनियंत्रित बढ़ती कीमतों को वापस लेने की मांग और मंहगाई के खिलाफ पेट्रोल पंपों पर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन के दौरान मौजूद रहे। इस मौके पर उन्होंने आगे कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार ने पिछले सात साल में पेट्रोल डीजल पर टैक्स में बार-बार भारी बढ़ोतरी करके कीमतों को रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा दिया है।

यह भी पढ़े: गौरव भटनागर कलाकारों के साथ करेंगे कई प्रोजेक्ट्स

इस सरकार की गलत नीतियों के कारण देश के कई हिस्सों में पेट्रोल की कीमतें आज 100 रुपये प्रति लीटर का आंकड़ा पार कर चुकी हैं और डीजल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर होने के कगार पर है। उन्होंने कहा कि साल 2012 में जब इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमत अधिक थी, तब भी देश में इतनी महंगाई नहीं हुई थी और पेट्रोल 70 रुपये लीटर मिल रहे थे। आज जब इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमत आधी है फिर भी सरकार जनता से ज्यादा पैसे वसूली कर उन्हें कंगाल बनाने में लगी है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने 6 सालों में पेट्रोल डीजल पर 25000 करोड़ रुपये के टैक्स के रुप में वसूले हैं और केंद्र सरकार ने 7 सालों में 20.56 लाख करोड़ रुपये टैक्स के रुप में वसूले है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *