निर्जला एकादशी एवं अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर विविध कार्यक्रम का आयोजन।

निर्जला एकादशी एवं अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर विविध कार्यक्रम का आयोजन।

महेश पाण्डेय ब्यूरो चीफ

वाराणसी


आज दिनांक 21-06-2021 को गायत्री तीर्थ शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान एवं गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट के संयोजन में निर्जला एकादशी एवं अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर विविध कार्यक्रम का आयोजन सुबह 7 बजे से किया गया है जिसके तहत गायत्री शक्तिपीठ दानुपुर वाराणसी के प्रांगण में योगाचार्य श्रीमती रुचि सिंह ने योग एवं प्राणायाम कराया एवं श्री आनिलेश तिवारी ने यज्ञ कराया तो दुसरी ओर गायत्री शक्तिपीठ कालिका वारा में श्री रामाश्रय सिंह के संयोजन में गायत्री साधकों ने योग एवं प्राणायाम किया । इसी कड़ी में गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट वाराणसी से जुड़े केंद्रों काशी विद्यापीठ ब्लॉक ,चांदपुर में श्री बेचूलाल के संयोजन में आचार्य कृष्ण कुमार, स्वामी विवेकानंद प्रज्ञा मंडल, भटपुरवा वाराणसी में श्री लालबहादुर पटेल,युवा मंडल, पड़ाव, वाराणसी में डॉक्टर भगवान दास,प्रज्ञा मंडल फुलवरिया में श्री नवनीत सिंह,
धन्वंतरि योग प्रशिक्षण केंद्र, टकटकपुर, वाराणसी में श्री विनोद श्रीवास्तव, प्रज्ञा मंडल चुरामन, सारनाथ में श्री ओम नारायण भारद्वाज, प्रज्ञा मंडल, देवचंद पुर, बड़ागांव, वाराणसी में श्री घनश्याम कर्मयोगी एवं श्री रामभरोस यादव ने योग एवं प्राणायाम का प्रशिक्षण दिया शांतिकुंज हरिद्वार के स्वर्ण जयंती वर्ष,अंतराष्ट्रीय योग दिवस एवं निर्जला एकादशी पर महिला मंडल कोनिया, वाराणसी में बाल संस्कारशाला संचालिका श्रीमती पुष्पा रानी के संयोजन में गायत्री साधकों ने अपने जीवन को योग के रंग में रंगते हुए स्वस्थ जीवन एवं स्वस्थ मस्तिष्क के संकल्प को दोहराया तथा स्वस्थ समाज एवं स्वस्थ प्राकृतिक वातावरण तथा प्राकृतिक संतुलन हेतु यज्ञ में अग्निहोत्र भी किया ।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य प्रबंध ट्रस्टी गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट वाराणसी श्री गंगाधर उपाध्याय ने कहा कि योग भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण अंग है ।हम भारतीयों के दिन का शुभारंभ योग एवं प्राणायाम से शुरू होता है इसीलिए हम भारतीयों के शरीर में अन्य देशों के लोगों से ज्यादा रोग प्रतिरोधक क्षमता है। गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट से जुड़े गायत्री साधकों ने प्राकृतिक संतुलन को बनाये रखने हेतु वृक्षारोपण का संकल्प भी लिया तो अनेकों गायत्री साधकों ने वृक्षारोपण भी किया। आगे बताया कि ऑनलाइन माध्यम से भी योग में भाग लिया।
संचालिका महिला मंडल कोनिया एवं बाल संस्कारशाला संचालिका श्रीमती पुष्पा रानी ने बताया कि योग एवं यज्ञ एक दूसरे का पूरक है योग एवं प्राणायाम शरीर एवं मन मस्तिष्क को स्वस्थ एवं दिर्घायु बनाता है तो यज्ञ स्वस्थ वातावरण एवं स्वस्थ समाज का निर्माण करता है ।योग एवं यज्ञ से ही हम सभी कोरोना जैसे वाइरस के संक्रमण से मुक्त हुए। आगे कहा कि जो लोग भी योग एवं यज्ञ से जुड़े रहे वे कोरोना संक्रमण से अछूते रहे या संक्रमित भी हुए तो उन पर इसका प्रभाव नाममात्र का हुआ।
योग कार्यक्रम में मुख्य रूप से श्रीगंगाधर उपाध्याय, रामाश्रय सिंह, हरीनाथ मौर्या, बेचू लाल, हरिशंकर मौर्य, अनिलेष तिवारी, राम भरोस यादव, लाल बहादुर पटेल, डॉक्टर भगवान दास,आनंद शर्मा, नवनीत सिंह, विनोद श्रीवास्तव, सत्यप्रकाश गुप्ता, ओम नारायण भारद्वाज, विनोद पांडेय,राजेश गुप्ता, घनश्याम कर्मयोगी, श्रीमती कंचन गुप्ता, सावित्री सिंह, अनिला बरनवाल, राधिका मौर्य, हीरावती सिंह, ज्योतिप्रभा राय, अजय लक्ष्मी सिंह, स्वेता मिश्रा, रुचि सिंह, पुष्पा गुप्ता, मीरा मौर्य ,पुष्पा रानी एवं मीडिया प्रभारी रमन कुमार श्रीवास्तव सहित अनेकों गायत्री साधकों ने भाग लिया।

                   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *