नई शिक्षा नीति 2020 के संदर्भ में विषयक एकदिवसीय सेमिनार का आयोजन

नई शिक्षा नीति 2020 के संदर्भ में विषयक एकदिवसीय सेमिनार का आयोजन

रिपोर्टर:-विनोद कुमार सिंह

सेवापुरी: पं0 दीनदयाल उपाध्याय राजकीय बालिका महाविद्यालय सेवापुरी में आज “उच्च शिक्षा में गुणवत्ता नियंत्रण: नई शिक्षा नीति 2020 के संदर्भ में” विषयक एकदिवसीय सेमिनार का जूम प्लेटफार्म पर ऑनलाइन एवं महाविद्यालय परिसर में ऑफलाइन आयोजन किया, जिसके मुख्य अतिथि प्रो0 हिरेन्द्र प्रताप सिंह, संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा ने सर्वप्रथम परिसर स्थित महात्मा गांधी और वाग्देवी सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया, तत्पश्चात महाविद्यालय की यशस्वी प्राचार्य प्रो यशोधरा शर्मा के साथ संत शिरोमणि रैदास के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

अतिथियों के स्वागत के क्रम में महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ यशोधरा शर्मा ने प्रो हिरेन्द्र प्रताप सिंह को पुष्प गुच्छ भेंट किया, महाविद्यालय परिवार की तरफ से संयुक्त रूप से अंगवस्त्रम प्रदान किया गया। वाचिक स्वागत के अंतर्गत प्रो यशोधरा शर्मा ने मुख्य अतिथि प्रो हिरेन्द्र प्रताप सिंह के साथ ही मुख्य वक्ता डॉ योगेन्द्र पाण्डेय जी का स्वागत करते हुए नई शिक्षा नीति:2020 के प्रारूप पर विस्तृत चर्चा किया और कहा कि नई नीति भारतीय समाज, संस्कृति और राष्ट्र निर्माण को दृष्टिगत रखते हुए बनाई गई है।

इस अवसर पर महाविद्यालय की वार्षिक पत्रिका स्पन्दन तथा सेमिनार के ई सोविनेयर का विमोचन मुख्य अतिथि द्वय डॉ हिरेन्द्र प्रताप सिंह, डॉ योगेन्द्र पाण्डेय, महाविद्यालय की प्राचार्य प्रो यशोधरा शर्मा, प्रधान सम्पादक डॉ राम कृष्ण गौतम, सुश्री गीता रानी शर्मा, डॉ रविप्रकाश गुप्ता, डॉ कमलेश कुमार वर्मा, डॉ सत्यनारायण वर्मा, डॉ अर्चना गुप्ता, डॉ आशा, डॉ सर्वेश कुमार सिंह, डॉ घनश्याम कुशवाहा, डॉ कमलेश कुमार सिंह, डॉ सौरभ सिंह की उपस्थिति में हुआ।


मुख्य अतिथि प्रो0 हिरेन्द्र प्रताप सिंह ने नई शिक्षा नीति: 2020 के संदर्भ में उच्च शिक्षा में गुणवत्ता विषय पर अपने विचार रखते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति से शिक्षा जगत में आमूल परिवर्तन दिखाई देगा, एक तरफ जहां हम अपनी भाषा, संस्कृति और राष्ट्रीय दायित्व का निर्वाह करने में सक्षम होंगे, वहीं हम वैश्विक धरातल पर तकनीक एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता में संवर्द्धन भी कर सकेंगे।

प्रो0 हिरेन्द्र प्रताप सिंह ने माननीय शिक्षा निदेशक उच्च शिक्षा प्रो अमित भारद्वाज का शुभकामना संदेश दिया। मुख्य वक्ता डॉ योगेन्द्र पाण्डेय, शिक्षा संकाय, बीएचयू वाराणसी ने नई शिक्षा नीति 2020 के परिप्रेक्ष्य में अपने विश्लेषणात्मक अध्ययन को प्रस्तुत करते हुए उसके विविध प्रावधानों को राष्ट्र हित में अनिर्वचनीय बताया। प्राथमिक शिक्षा से उच्च शिक्षा तक उसकी संरचनात्मक प्रवृत्ति पर प्रकाश डालते हुए नैतिक समावेशी शिक्षा, प्राच्य और पाश्चात्य के बीच समन्वय स्थापित करने में मददगार बताया।

कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा आई क्यू ए सी की संयोजिका सुश्री गीता रानी शर्मा ने महाविद्यालय की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए, नई शिक्षा नीति के विविध प्रावधानों को अपने सुझाव के अनुरूप बताया और नयी शिक्षा नीति को 21वीं सदी के विकसित राष्ट्रीय परिकल्पना के अनुकूल बताया। आयोजक सचिव डॉ रविप्रकाश गुप्ता ने आज के सेमिनार की समीक्षा करते हुए आनलाइन एवं आफलाइन प्रतिभागियों के प्रति आभार ज्ञापित किया। डॉ आशा ने कार्यक्रम का सुव्यवस्थित संचालन किया। तकनीकी सचिव डॉ सौरभ सिंह ने इस कार्यक्रम को सफल और बेहतर बनाने में अपना योगदान दिया।

इस अवसर पर महाविद्यालय के डा कमलेश कुमार वर्मा, डॉ अर्चना गुप्ता, डॉ सत्यनारायण वर्मा, डॉ सर्वेश कुमार सिंह , डॉ घनश्याम कुशवाहा, डॉ कमलेश कुमार सिंह, रामकिंकर सिंह, डॉ मिथिलेश कुमार मिश्र और मिट्ठू राम ने अपने दायित्व का बखूबी निर्वहन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *