मात्र 02 सेशन, 02 मजिस्ट्रेट न्यायालय, सिविल प्रकृति के वादों के 03 मूल न्यायालय, अवर खण्ड स्तर का 01 न्यायालय ही वर्चुअल, आनलाईन माध्यम से संचालित होंगे।

मात्र 02 सेशन, 02 मजिस्ट्रेट न्यायालय, सिविल प्रकृति के वादों के 03 मूल न्यायालय, अवर खण्ड स्तर का 01 न्यायालय ही वर्चुअल, आनलाईन माध्यम से संचालित होंगे।

संवाददाता:-राकेश वर्मा

आजमगढ़ में प्र0 मुख्य प्रशासनिक अधिकारी जनपद न्यायालय आजमगढ़, लल्लन सिंह ने बताया कि कोविड -19 मामलों के दृष्टिगत माननीय उच्च न्यायालय, इलाहाबाद द्वारा जिला न्यायालयों के संचालन हेतु दिनांक 04 जून 2021 ई0 को जारी दिशा-निर्देशों के अनुपालन में मात्र 02 सेशन न्यायालय, 02 मजिस्ट्रेट न्यायालय, सिविल प्रकृति के वादों के 03 मूल न्यायालय एवं अवर खण्ड स्तर का 01 न्यायालय ही वर्चुअल/आनलाईन माध्यम से संचालित होंगे, जिसमें लम्बित/नये जमानत प्रार्थना- पत्र, रीलिज, पीड़िता का बयान अन्तर्गत धारा 164 सीआरपीसी, रिमाण्ड, आवश्यक फौजदारी प्रार्थना – पत्र, हाई पावर्ड कमेटी के निर्देश के प्रकरण, आवश्यक प्रकृति के निषेधाज्ञा की सुनवाई एवं निषेधाज्ञा से सम्बन्धित नये वादों का दाखिला वर्चुअल माध्यम से होगा। न्यायालयों द्वारा पारित समस्त आदेश सीआईएस साफ्टवेयर पर अपलोड किया जायेगा एवं न्यायालय कर्मियों की कुल संख्या का मात्र 30 प्रतिशत रोटेशन के आधार पर उपस्थिति होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *