(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Mon. Apr 15th, 2024

एक बार फिर कोर्ट से अरविंद केजरीवाल को हाथ लगी निराशा,1 अप्रैल तक बरकरार ईडी की रिमांड

Delhi Liquor Scam Case: दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट से एक बार फिर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को झटका लगा है. कोर्ट ने उनकी रिमांड को एक अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया है.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की रिमांड सुनवाई पर दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट ने गुरुवार को कोई राहत न देते हुए 1 अप्रैल तक रिमांड बढ़ा दी है. कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल को पहले 6 दिन की रिमांड पर भेजा था जिसके बाद ईडी ने रिमांड बढ़ाने की अपील की थी. इसी मुद्दे पर सुनवाई हुई जिसमें एक ओर केजरीवाल ने इस गिरफ्तारी को राजनीतिक उकसावे का नाम दिया तो वहीं दूसरी ओर ईडी ने जांच में सहयोग न करने का आरोप लगाया.  

इस दौरान दिल्ली पुलिस ने राउज एवेन्यू कोर्ट के कैंपस में शराब लाने वाले एक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया, जहां दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को उत्पाद शुल्क नीति मामले के सिलसिले में पेश किया जा रहा था. दिल्ली की राउज एवेन्यू अदालत ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की हिरासत रिमांड को 7 दिन बढ़ाने की मांग को नहीं माना और इसे सिर्फ 1 अप्रैल तक के लिए बरकरार रखा.

जस्टिस ने कहा अभी तक मनी ट्रोल का पता नहीं चला

अरविंद केजरीवाल की रिमांड सुनवाई के दौरान ईडी की ओर से कहा गया है कि AAP संयोजक होने के नाते केजरीवाल गोवा चुनाव अभियान में सीधे तौर पर शामिल थे. ईडी ने कहा है कि इस संबंध में उनके पास कई बयान हैं. हालांकि जस्टिस संजीव खन्ना ने कहा है कि अभी तक मामले में मनी ट्रोल का पता नहीं चला है. उधर कोर्ट में सीएम अरविंद केजरीवाल ने रिमांड सुनवाई के दौरान कहा है कि कहा, आरोप लगाए जा रहे हैं कि 100 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है. साथ ही कहा कि ईडी का मकसद आम आदमी पार्टी को कुचलना है. 

शराब नीति मामले में केजरीवाल के वकील रमेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल ने स्वीकार किया है कि वो सहयोग करने के लिए तैयार हैं और उन्हें हिरासत में रहने पर कोई आपत्ति नहीं है. वकील रमेश गुप्ता ने कहा कि हम कोर्ट में उन आधारों का विरोध कर रहे हैं, जिन पर रिमांड मांगी गई है. 

रिमांड बढ़ाने के लिए कोर्ट को बताई ये वजह

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली शराब नीति केस में गुरुवार को राऊज एवेन्यू कोर्ट में सीएम अरविंद केजरीवाल की हिरासत सात दिन और बढ़ाने की मांग की. इस पर कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है. ईडी ने ये कहते हुए रिमांड के आवेदन किया था कि उन्हें केजरीवाल का कुछ अन्य लोगों से सामना कराना है और पूछताछ करनी है. ईडी ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) के कुछ गोवा स्थित कार्यकर्ताओं के बयान भी दर्ज किए जा रहे हैं.

भाजपा बोली- दिल्ली में संवैधानिक संकट

दूसरी ओर इस मामले में जमकर राजनीति भी हो रही है. दिल्ली भाजपा ने गुरुवार को सीएम अरविंद केजरीवाल के इस्तीफे की मांग की. आरोप लगाया कि राज्य संवैधानिक संकट का सामना कर रहा है. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा और पार्टी सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि केजरीवाल को हिरासत में लिए जाने के बाद AAP में से किसी को भी सीएम बनाया जा सकता है. मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली एक बड़े संवैधानिक संकट में है. 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *