(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Tue. Apr 16th, 2024

किसी भी महिला को ‘डॉर्लिंग’ कहने से पहले अब सौ बार सोच लें,जाना पड़ेगा जेल

कोर्ट

Calcutta High Court: किसी अनजान महिला को ‘डार्लिंग’ कहना जेल की हवा खिला सकता है. पोर्ट ब्लेयर खंडपीठ की जस्टिस जय सेनगुप्ता ने कहा कि हमारा समाज इस बात की इजाजत नहीं देता कि कोई भी शख्स किसी भी महिला को ‘डार्लिंग’ कह कर संबोधित करे.

किसी भी महिला को डार्लिंग करने पहले अब सौ बार सोच लें, क्योंकि इस शब्द के इस्तेमाल से आप जेल की हवा खा सकते हैं. कोलकत्ता हाई कोर्ट ने कहा कि अगर अनजान महिला को कोई शख्स डार्लिंग कर के संबोधित करता है तो उसे यौन उत्पीड़न का दोषी माना जाएगा. शख्स को 354A धारा के तहत जेल भी भेजा सकता है. 

होई कोर्ट की पोर्ट ब्लेयर पीठ की जज जस्टिस जय सेनगुप्ता ने कहा कि भले ही आरोपी ने शराब पी रखी हो या किसी भी स्थिति में हो, अगर उसने किसी अनजान महिला को डार्लिंग कहा है तो उसे सेक्सुअल हैरेसमेंट का दोषी माना जाएगा. दरअसल एक शख्स ने महिला पुलिस अधिकारी को शराब के नशे में डार्लिंग कहा था. महिला ने इसकी शिकायत दर्ज करा दी. जस्टिस सेनगुप्ता ने अपीलकर्ता आरोपी जनक राम की सजा को बरकरार रखी है. उसने नशे की हालत में महिला पुलिस अधिकारी से कहा था, “क्या डार्लिंग चालान करने आई हो क्या?”

 

शख्स सड़क पर किसी अनजान महिला का डार्लिंग नहीं बोल सकता

जस्टिस सेनगुप्ता ने धारा 354A (एक महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाना) का उल्लेख करते हुए कहा कि आरोपी की महिला पुलिस अधिकारी पर की गई टिप्पणी यौन टिप्पणियों के दायरे में आती है और यह कानून दोषी को सजा का हकदार बनाता है. कोई भी शख्स सड़क पर किसी अनजान महिला का डार्लिंग नहीं बोल सकता है. उन्होंने कहा कि शख्स  भले ही शराब के नशे में हो या ना हो वह किसी भी अनजान महिला को ‘डार्लिंग’ शब्द से संबोधित नहीं कर सकता है और अगर उसने ऐसा किया है तो स्पष्ट रूप से यह अपमानजनक है. 

पांच साल तक जेल का प्रावधान

आरोपी ने दावा किया था कि वो शराब के नशे में नहीं था. इस पर हाई कोर्ट ने कहा कि अगर आरोपी ने यह शांत अवस्था में रहते हुए महिला अफसर पर टिप्पणी की है तो अपराध और गंभीर हो जाता है. बता दें कि सेक्सुअल हैरेसमेंट केस में दोषी को पांच साल तक जेल की सजा या जुर्माना का प्रावधान है.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *