(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Mon. Apr 15th, 2024

एयर इंडिया में नॉन-फ्लाइंग स्टाफ की गई नौकरियां, कई कर्मचारियों को दिखाया गया बाहर का रास्ता 

Air India Layoff: टाटा ग्रुप की एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया अपने कई कर्मचारियों की छंटनी करने जा रही है. जिन कर्मचारियों को निकाला जाएगा उन्हें उनके प्रति नौकरी के साल का 15 फीसदी पैसा मुआवजे के रूप में दिया जाएगा.

भारत की सबसे पुरानी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया के कर्मचारियों की नौकरी पर तलवार लटकी हुई है. इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक टाटा ग्रुप की स्वामित्व वाली एयर इंडिया करीब 200 कर्मचारियों की छंटनी करने वाली है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक एयर इंडिया अपने 1 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी करेगी. इसमें वो कर्मचारी शामिल हैं जिन्होंने कंपनी की स्वैच्छिक रिटायरमेंट वाले प्लान को नहीं चुना है.

कितने कर्मचारी करते हैं काम?

टाटा ग्रुप की एयर इंडिया एक्सप्रेस में 6,200 से अधिक कर्मचारी है. एयर इंडिया में 18,500 से अधिक स्टाफ है. जब टाटा ग्रुप ने एयर इंडिया को खरीदा था उस समय कंपनी में 12,085 कर्मचारी थे. इसमें कॉन्ट्रैक्ट वर्कर भी शामिल थे.

जनवरी 2022 में टाटा समूह ने एयर इंडिया को खरीदा था. तभी से समूह एयर लाइन के बिजनेस मॉडल को सुधारने के लिए काम कर रही है. जब सरकार ने टाटा समूह को एयरलाइन सौंपी थी उस वक्त सरकार और टाटा ग्रुप के बीच ये एग्रीमेंट हुआ था कि एयर इंडिया के कर्मचारियों को अगले एक साल तक कंपनी नहीं निकलेगी. 2,500 कर्मचारियों ने कंपनी की वीआरएस सुविधा का लाभ उठाते हुए रिटायरमेंट ले लिया था.

कितना मिलेगा मुआवजा?

एयर इंडिया के स्पोकपर्सन ने इकोनॉमिक टाइम्स को बताया कि जिन कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है उनको मुआवजे के तौर पर जितने साल उन्होंने काम किया है हर साल का 15 फीसदी पैसा दिया जाएगा. यानी अगर किसी कर्मचारी ने 10 साल काम किया है और उसकी छंटनी हो रही है तो हर साल की 15 फीसदी वेतन को जोड़कर उसे मुआवजे के रूप में दिया जाएगा.

एयर इंडिया के स्पोकपर्सन ने कहा कि हम एयर इंडिया के बिजनेस मॉडल को वैश्विक स्तर पर और बड़ा करने के लिए काम कर रहे हैं. इस फिटमेट प्रोसेस में नॉन फ्लाइंग फंक्शन वाले कर्मचारियों को उनके कार्य क्षमता के हिसाब से उन्हें उनका रोल दे दिया गया है. 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *