(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Tue. Apr 16th, 2024

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनावों से पहले महाराष्ट्र में सियासी संकट देखने को मिल रहा है. राज्य के सत्ताधारी महायुति गठबंधन की दो प्रमुख पार्टियां एनसीपी और शिवसेना के बीच तनाव इस कदर बढ़ चुका है कि एलायंस टूटने की धमकियां दी जा रही हैं.

लोकसभा चुनावों की तारीख का ऐलान हुए करीब एक हफ्ता हो गया है लेकिन महाराष्ट्र की सियासत में अभी तक सीटों का बंटवारा नहीं हो सका है. जहां महाविकास अघाड़ी गठबंधन में अभी तक सीट शेयरिंग फॉर्मूला तैयार नहीं हो सका है तो वहीं पर यही हाल एनडीए गठबंधन वाली महायुति का भी है. इस बीच अजित पवार के नेतृ्त्व वाली एनसीपी ने कुछ ऐसी मांग कर ली है जिसके चलते महाराष्ट्र के एनडीए गठबंधन में दरार पड़ सकती है.

दरअसल यह मामला चीफ मिनिस्टर एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के नेता विजय शिवात्रे के उस बयान के बाद उभरा है जिसमें उन्होंने डिप्टी सीएम अजीत पवार पर फिर से निशाना साधा है. विजय शिवात्रे ने लोकसभा चुनावों को लेकर ऐलान किया है कि वो बारामती लोकसभा सीट से अपना नामांकन भरेंगे जहां से शरद पवार गुट की सुप्रीया सुले और अजित पवार गुट की सुनेत्रा पवार चुनावी मैदान में लड़ते नजर आएंगे.

शिवात्रे के इस बयान के बाद रविवार को एनसीपी ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से विजय को बाहर निकालने की मांग की है और अगर वो ऐसा नहीं करते हैं तो महायुति गठबंधन तोड़ने की भी धमकी दे डाली है.

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए एनसीपी के चीफ प्रवक्ता उमेश पाटिल ने कहा,’हम लंबे समय से विजय शिवात्रे के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं, खासतौर से जबसे उन्होंने उपमुख्यमंत्री के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल किया. आज उन्होंने हमारे नेता के खिलाफ गलत शब्दों का इस्तेमाल किया. अब उन्हें शिवसेना से बाहर निकालना ही हमें संतुष्ट कर सकता है वरना हमारे सामने महायुति गठबंधन छोड़ने के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं बचता.’

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *