(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Tue. Apr 16th, 2024

चंद मिनटों में सुपुर्द-ए-खाक होंगे मुख्तार अंसारी, कब्रिस्तान में परिवार के लोगों को ही इजाजत

Mukhtar Ansari Death: मुख्तार अंसारी के शव को आज गाजीपुर में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. इसके मद्देनजर गाजीपुर समेत कई जिलों में धारा 144 लगाई गई है.

गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी की गुरुवार को हार्ट अटैक से मौत हो गई. वीडियोग्राफी के बीच मुख्तार का पोस्टमार्टम हुआ. इसके बाद मुख्तार का शव बांदा से गाजीपुर उसके आवास पर लाया गया. आज सुबह की नमाज के बाद सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. मुख्तार की मौत के बाद गाजीपुर और मऊ समेत पूरे प्रदेश में हाई अलर्ट जारी किया गया है.

इससे पहले बांदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में पोस्टमार्टम पूरा होने के बाद मुख्तार अंसारी का शव बांदा से गाजीपुर ले जाया गया. इस बीच, मुख्तार अंसारी की मौत के मामले में न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं. बांदा की सीजेएम गरिमा सिंह को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है.

अप्रैल 2023 में एमपी-एमएलए कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के लिए दोषी ठहराया था और 10 साल कैद की सजा सुनाई थी. 1990 में हथियार के लाइसेंस के लिए जाली दस्तावेजों से जुड़े मामले में 13 मार्च, 2024 को उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी.

कब्रिस्तान में परिवार को ही एंट्री

मुख्तार अंसारी को अंतिम संस्कार के लिए भारी सुरक्षा के बीच उनके मोहम्मदाबाद स्थित आवास से निकला गया. परिवार के लोगों को ही कब्रिस्तान में जाने की इजाजत दी गई है.

मुख्तार अंसारी के घर के बाहर नारेबाजी

गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी के मोहम्मदाबाद घर के बाहर समर्थक नारेबाजी कर रहे हैं. इसके बाद सुरक्षा और बढ़ा दी गई है. मुख्तार अंसारी की गुरुवार रात बांदा मेडिकल कॉलेज में हार्ट अटैक से मौत हो गई थी.

10 बजे किया जाएगा सुपुर्द-ए-खाक

मुख्तार अंसारी के जनाजे की नमाज शताहवा बाग के मैदान में पढ़ी जाएगी. जनाजे की नमाज के बाद करीब 10 बजे काली बाग कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा.

मोहम्मदाबाद पहुचा शहाबुद्दीन का बेटा 

गैंगस्टर मोहम्मद शहाबुद्दीन का बेटा ओसामा मुख्तार अंसारी के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के लिए मोहम्मदाबाद पहुंचा है. अंतिम संस्कार से पहले मुख्तार अंसारी के आवास के बाहर बड़ी संख्या में लोग जुटे हैं. 

हिंदू से खोदी मुख्तार की कब्र

मुख्तार अंसारी के कब्र की खुदाई करने वालों तीन हिन्दू भी शामिल थे. मोहम्दाबाद स्टेशन के रहने वाले संजय, नगीना व गिरधारी कई पीढ़ियों से कब्र खोदने का काम करते हैं. मुख्तार अंसारी की कब्र खोदने के लिए तीनों ने कोई पैसा नहीं लिया.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *