ADS (6)
ADS (5)
ADS (4)
ADS (3)
ADS (2)
previous arrow
next arrow
 
ADS (6)
ADS (5)
ADS (4)
ADS (3)
ADS (2)
previous arrow
next arrow
Shadow

उद्धव ठाकरे तथा शरद पवार के बीच बैठक

Uddhav and शरद पवार

Uddhav and शरद पवार

शरद पवार ने कहा, “ बीएससी ने नियमों के मुता‍बिक ही काम किया लेकिन डिमॉलिशन ड्राइव की टाइमिंग के कारण लोगों तक गलत संदेश पहुंचा…
Advertisement

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के पाली हिल स्थित कार्यालय पर बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के बुलडोजर चलाये जाने के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एवं शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे तथा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार के बीच बैठक हो रही है जिसमें कोरोना वायरस (कोविड-19) संकट समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है।

uddhav शरद पवार

इस बैठक का महत्व इसलिए भी बढ़ गया है क्योंकि बुधवार को ही बीएमसी अधिकारियों ने कंगना के कार्यालय के ‘अवैध निर्माण’ को ध्वस्त किया है और आज ही वह मुम्बई पहुंची हैं। वह इससे पहले अपने गृह राज्य हिमाचल प्रदेश में थीं।

शरद पवार ने कहा, “ बीएससी ने नियमों के मुता‍बिक ही काम किया लेकिन डिमॉलिशन ड्राइव की टाइमिंग के कारण लोगों तक गलत संदेश पहुंचा। मुंबई में अवैध निर्माण करना कोई नई चीज नहीं है, लेकिन इस पर चल रहे विवाद के बीच में ही एक्शन लेने से सवाल पैदा हो रहे हैं, लेकिन बीएमसी के पास अपने कारण हैं, अपने नियम हैं और उन्होंने उसके हिसाब से कार्रवाई की है।’

Advertisement

शरद पवार ने यहां नरीमन प्वाइंट स्थित वाई बी चव्हाण सेंटर में एक किताब के विमोचन के बाद संवाददाताओं से कहा,“हम ऐसे बयान देने वालों को अनुचित महत्व दे रहे हैं। हमें देखना होगा कि लोगों पर इस तरह के बयानों का क्या प्रभाव पड़ता है। मेरी राय में, लोग (ऐसे बयानों को) गंभीरता से नहीं लेते हैं।”

मुंबई पुलिस का समर्थन करते हुए शरद पवार ने कहा, “महाराष्ट्र और मुंबई के लोगों को राज्य और नगर की पुलिस के काम के संबंध में ‘वर्षों का अनुभव’ है। वे (लोग) पुलिस के काम को जानते हैं, इसलिए हमें इस पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है कि कोई क्या कहता है।”

गौरतलब है कि बाॅम्बे उच्च न्यायालय ने आज कंगना रनौत के कार्यालय के तोड़ने पर रोक लगा दी और बीएमसी से जवाब मांगा है। इस मामले पर गुरुवार को सुनवाई होगी।

न्यायमूर्ति एस जे काथावाला ने कंगना रनौत की तरफ से दायर याचिका पर सुनवाई की। याचिका में अभिनेत्री के कार्यालय में अवैध निर्माण के लिए बीएमसी की ओर से जारी नोटिस को चुनौती दी गई थी।

न्यायालय ने बीएमसी से यह भी जानना चाहा कि उसने कैसे परिसर में प्रवेश किया। न्यायालय ने निर्देश दिया कि बीएमसी याचिका के जवाब में हलफनामा दायर करे। अदालत ने मामले को सुनवाई के लिए गुरुवार को सूचीबद्ध कर दिया है। गुरुवार को इस मामले में दोपहर बाद तीन बजे सुनवाई होगी।

Advertisement

प्रिय मित्रों: अगर आप एक अच्छे लेखक है तो आप हमें संपादकीय लिख कर या किसी भी मुद्दे से संबधित अपनी राय, सुझाव और प्रतिक्रियाएं हमारे ई-मेल पर भेज सकते हैं । अगर हमारें संपादक को अपका लेख या मुद्दा सही लगा तो हम अपके मुद्दे को अपने समाचार पत्र एवं वेबसाइटपर प्रकाशित किया जाएगा। आप अपना पूरा नाम,फोटो व स्थान का नाम जरुर लिखकर भेजें। अन्यथा उसके लेख एवं मुद्दे को प्रकाशित नहीं किया जाएगा।

Email: vashishthavani.news@gmail.com

वशिष्ठ वाणी भारत का प्रमुख दैनिक समाचार पत्र हैं, जिसमें हर प्रकार के समसामायिक-राजनीति, कानून-व्यवस्था न्याय-व्यवस्था, अपराध, व्यापार, मनोरंजन, ज्ञान-विज्ञान, खेल-जगत, धर्म, स्वास्थ्य व समाज से जुडे हुये हर मुद्दों को निष्पक्ष रुप से प्रकाशित किया जाता हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *