बसपा के संस्थापक कांशीराम के 87वें जयंती के अवसर पर मंडलस्तरीय संगोष्ठी का आयोजन किया गय

बसपा के संस्थापक कांशीराम के 87वें जयंती के अवसर पर मंडलस्तरीय संगोष्ठी का आयोजन किया गय

संवाददाता राकेश वर्मा

आजमगढ़: बहुजन समाज पार्टी के तत्वावधान में वामसेफ, डीएस-4 व बसपा के संस्थापक कांशीराम के 87वें जयंती के अवसर पर नेहरू हाल के सभागार में मंडलस्तरीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। सर्वप्रथम पदाधिकारी व कार्यकर्ता संविधान निर्माता डा. भीम राव अम्बेडकर, कांशीराम व सर्वसमाज में जन्मे संतों गुरूओं के चरणां में श्रद्धा सुमन अर्पित कर उन्हे नमन किया।


मुख्य अतिथि पूर्व एमएलसी डा. विजय प्रताप ने कहा कि जिस महापुरूष की जयंती मनाने का काम हम आज कर रहे है उस महापुरूष ने निस्वार्थ भाव से दलित, शोषित समाज के छीने गये हक का दिलाने का काम किया। इसके अलावा उन्होने बिखरे समाज को भी जोड़ने का भी काम किया।

बसपा संस्थापक कांशीराम ने भाईचारा पैदा कर सबकी बेहतरी के लिए बसपा का गठन कर तीन बार बसपा सुप्रीमो मायावती के नेतृत्व में सत्ता की चाभी प्राप्त कर प्रदेश में विकास और सम्मान का रास्ता खोला। सभी को उनका हक और अधिकार मिला। यह किसी से छिपा नहीं है। बसपा ने सर्वसमाज को जोड़कर समतामूलक समाज बनाने का काम किया है। हमें 2022 में बसपा बसपा की सरकार बनानी है इसके लिए कार्यकर्ता अभी से लग जाय।अध्यक्षता कर रहे लालगंज विधायक अरिमर्दन आजाद ने कहाकि सोती कौम को जगा कर शासक बनाने वाले बसपा संस्थापक के जन्मदिन पर कार्यकर्ता यह संकल्प ले कि केन्द्र व प्रदेश की भ्रष्ट सरकार को हम उखाड़ फेकेंगे।

उन्होने कहाकि देश और प्रदेश में बसपा की सरकार बनाकर अपना हक और अधिकार प्राप्त करना होगा। हरिश्चन्द्र गौतम ने कहाकि आज हर लोगों के जुबां पर कांशीराम का नाम लिखा है। जिन्होने डा. भीमराव अम्बेडकर के मिशन को पूरा करने का संकल्प लिया और सूखी रोटी खाकर रात दिन बिताया। दलित शोषितों की लड़ाई लड़ने का काम किया। इसके अलावा पिछडे़ वर्ग के लोगों को आरक्षण दिलाकर उनको हर क्षेत्र में मजबूत बनाने का काम किया। आज बसपा को छद्म विरोधी लोग छोटे छोटे दल बनाकर सेंधमारी करने का काम कर रहे है, जो लोकतन्त्र के लिए खतरा है।

अरूण पाठक ने कहा कि डा. भीमराव अम्बेडकर के बनाये गये संविधान से हमें रूतबा और सम्मान मिला है। उन्होने दबे, कुचलों को सम्मान दिलाने के लिए अपना पूरा जीवन लगा। पाठक ने कहा कि वर्तमान सरकार झूठ मूठ का दिलासा दे रही हैं। इस सरकार के कथनी और करनी में काफी फर्क है। सभी काम संविधान और जनता के विरूद्ध कर रही है। इसलिए आज इस देश व प्रदेश को बसपा सुप्रीमो मायावती की जरूरत है। डा. भीम राव अम्बेडकर के सपनों को बहुजन समाज पार्टी के रूप में संजाने के लिए कांशीराम ने बहन जी के साथ मिलकर पूरा करने का काम किया। उनके जन्मदिन के अवसर पर हम संकल्प ले की त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जीताकर पार्टी को मजबूत करें।

सुशील कुमार सिंह ने कहा कि बसपा संस्थापक कांशीराम की जयंती पर हम अपना गीला सिकवा भूलकर बसपा को मजबूत करने का संकल्प ले। आपसी भाईचारा को मजबूत करे और समतामूलक समाज की स्थापना में अपना योगदान करें।उस्मान गनी ने कहाकि कांशी राम साहब कोई साधारण व्यक्ति नहीं थे वे समाज के तमाम लोगों को इकट्ठा कर उनका हक व अधिकारी दिलाने का काम किये। उनके पद्चिन्हों पर चलकर बसपा सुप्रीमो मायावती सर्वसमाज की लड़ाई लड़ रही है।

उन्होने कहाकि आने वाले विधानसभा चुनाव में उन्हे प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाने का काम करें। संचालन विनोद चौहान ने किया। इस अवसर पर श्याम बाबू यादव व अरूण मिश्रा ने सैकड़ों लोगों के साथ बसपा की सदस्यता ग्रहण किया।

इस मौके पर जिलाध्यक्ष आजमगढ़ अरविन्द कुमार, मऊ राजीव कुमार राजू, बलिया पटेल राम, सालिम अंसारी, इंदल राम, जगदीश गुप्ता, सुरेन्द्र निषाद, सुनील कुमार, रामपाल ठाकुर, बलराम भारती, राजकुमार वामसेफ, चन्द्रभूषण, राशिद अहमद, चेतई राम, अमरनाथ गौतम, अनिल कुमार, डा राजाराम, रामजी सरोज, अश्वनी कुमार, चेतई राम,ओंकार शास़्त्री, संतोष प्रधान, विजय कुमार, चंद्र प्रकाश, चन्द्रधारी सुमन, सिकन्दर कुशवाहा, मुस्तनीर फराही आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *