(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Tue. Apr 16th, 2024

Lok Sabha Elections 2024: यूपी से ‘स्पेशल 51’, BJP की विपक्ष को चारों खाने चित करने के लिए पुरजोर कोशिश!

PM modi

Lok Sabha Elections 2024: भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने शनिवार शाम को अपने 195 प्रत्याशियों की घोषणा कर दी. इन प्रत्याशियों में से 51 प्रत्याशी यूपी की 80 लोकसभा सीटों के लिए है. राजनीतिक पंडितों की मानें तो भाजपा ने 51 लोकसभा सीटों के लिए प्रत्याशियों की घोषणा कर विपक्ष में शामिल कांग्रेस और समाजवादी पार्टी को दिन में ही तारे दिखा दिए हैं. आइए, समझते हैं.

भाजपा ने उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 51 सीटों के प्रत्याशियों का ऐलान करके विपक्षियों की नींद हराम कर दी है. माना जा रहा था कि उत्तर प्रदेश की अधिकांश सीटों पर प्रत्याशियों को बदल दिया जाएगा. अगर ऐसा होता तो विपक्षी पार्टी कांग्रेस और समाजवादी पार्टी को भाजपा पर सवाल खड़ा करने का अच्छा मौका मिल जाता. लेकिन भाजपा ने 51 में से 44 मौजूदा सांसदों को टिकट देकर स्पष्ट कर दिया है कि BJP इस बार भी विपक्ष को चारों खाने चित करने के लिए पुरजोर कोशिश में जुटी हुई है.

खासकर, लखीमपुर खीरी की धौरहरा और खीरी संसदीय सीट पर प्रत्याशियों का ऐलान होते ही उत्तर प्रदेश में सियासी पारा चढ़ गया. ऐसा इसलिए क्योंकि भाजपा समेत विपक्ष में भी ये चर्चा जोरों पर थी कि इस बार दोनों सीटों पर मौजूदा सांसदों का बदला जाना तय है. 

कयासों को भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति ने कर दिया खारिज

दरअसल, किसान संगठनों के आंदोलन के बाद से चर्चा थी कि अजय मिश्र ‘टेनी’ का टिकट इस बार कटना तय है. करीब एक हफ्ते पहले टिकट को लेकर सीतापुर में हुई भाजपा की बैठक में सांसद अजय मिश्र ‘टेनी’ के न जाने से भी उनके टिकट कटने के कयास लगाए जा रहे थे. सियासत के जानकार खीरी लोकसभा सीट से अजय मिश्र की जगह किसी दूसरे ब्राह्मण चेहरे को उतारे जाने के कयास लगा रहे थे. खीरी से अजय मिश्र की जगह कुछ राजनीतिक पंडितों ने जितिन प्रसाद को उतारे जाने की संभावना भी जताई, लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं.

वहीं, जातीय समीकरणों के मुताबिक सियासी जानकार धौरहरा से रेखा वर्मा की जगह कोई कुर्मी चेहरा लाए जाने के कयास लगा रहे थे. राजनीतिक जानकारों की ओर से रेखा वर्मा की जगह धौरहरा लोकसभा सीट से प्रभारी मंत्री आशीष पटेल को उतारे जाने की संभावना जताई जा रही थी, लेकिन यहां भी कोई परिवर्तन नहीं हुआ.

भाजपा ने खेल दिया पिछड़ा कार्ड

भाजपा ने इस बार पिछड़ा कार्ड भी खिला है. 51 में से कई ऐसे प्रत्याशियों को टिकट दिया गया है जो पिछड़ी जाति से आते हैं. पिछड़े वर्ग में लोधी, कुर्मी, गुर्जर समेत अन्य प्रमुख जातियां आतीं हैं. इन जाति के नेताओं को भाजपा चुनाव समिति ने प्रतिनिधित्व का मौका दिया है. 

भाजपा ने उत्तर प्रदेश खी परंपरागत वोट बैंक को साधने के लिए 10 ब्राह्मण प्रत्याशियों के साथ ठाकुर और एक पारसी को भी टिकट दिया है. भाजपा ने 4 लोधी, 4 कुर्मी, दो गुर्जर, एक-एक यादव, कश्यप, कुशवाहा और तेली समाज के प्रत्याशियों को उतारा है. वहीं, अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित 12 सीटों में से 5 पर पासी समाज के प्रत्याशी उतारे हैं. माना जा रहा है कि विपक्ष खासकर समाजवादी पार्टी के PDA (पिछड़ा, दलित, अल्पसंख्यक) समीकरण को टक्कर देने के लिए पर्याप्त है.

भाजपा ने जिन 51 लोकसभा सीटों के लिए प्रत्याशियों का ऐलान किया है, उनमें से मात्र 4 सीटों के प्रत्याशियों को इस बार मौका नहीं दिया गया है. ये वे 4 सीटें हैं, जहां भाजपा को 2019 के लोकसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था. भाजपा ने इस बार इन पांच सीटों पर नए चेहरों को उतारा है. इनमें जौनपुर से कृपाशंकर सिंह, अंबेडकरनगर से रितेश पांडे, श्रावस्ती से साकेत मिश्रा और नगीना से ओम कुमार को प्रत्याशी बनाया गया है.

यूपी के 51 सीटों के लिए घोषित प्रत्याशियों की सूची

1- वाराणसी – नरेंद्र मोदी

2- कैराना – प्रदीप कुमार

3- मुज़फ्फरनगर – संजीव बालियान

4- नगीना – ओम कुमार 

5- रामपुर – घनशयाम लोधी

6- सम्भल – परमेश्वर सैनी

7- अमरोहा – कंवर सिंह तंवर

8- नोएडा – डॉ महेश शर्मा

9- बुलन्दशहर – भोला सिंह

10- मथुरा – हेमा मालिनी

11- आगरा- एसपी सिंह बघेल

12- फतेहपुर – राजकुमार चहर

13- एटा – राजवीर सिंह

14- आंवला – धर्मेंद्र कश्यप

15- शाहजहांपुर – अरुण सागर

16- लखीमपुर – अजय मिश्रा टेनी

17- धौरहरा – रेखा वर्मा

18- सीतापुर – राजेश वर्मा 

19- हरदोई – जय प्रकाश रावत

20- मिश्रिख – अशोक रावत

21- उन्नाव – साक्षी महाराज

22- मोहनलालगंज – कौशल किशोर

23- लखनऊ – राजनाथ सिंह

24- अमेठी – स्मृति ईरानी 

25- प्रतापगढ़ – संगम लाल गुप्ता 

26- फरूखाबाद – मुकेश राजपूत

27- इटावा – राम शंकर कठेरिया

28- कन्नौज – सुब्रत पाठक 

29- अकबर नगर – देवेंद्र भोले

30- जालौन – भानु प्रताप सिंह वर्मा

31- झांसी – अनुराग शर्मा

32- हमीरपुर – पुष्पेंद्र सिंह चंदेल

33- बांदा – आरके सिंह पटेल

34- फतेहपुर – निरंजन ज्योति

35- बाराबंकी – उपेंद्र रावत

36- अयोध्या – लल्लू सिंह

37- अम्बेडकरनगर – रितेश पांडेय

38- श्रावस्ती – साकेत मिश्रा

39- गोंडा – कीर्तिवर्धन सिंह 

40- डुमरियागंज – जगदम्बिका पाल 

41- बस्ती – हरीश द्विवेदी

42- संतकबीरनगर – प्रवीण निषाद

43- महराजगंज – पंकज चौधरी

44- गोरखपुर – रवि किशन 

45- कुशीनगर – विजय दुबे

46- बांसगांव – कमलेश पासवान 

47- लालगंज – नीलम सोनकर

48- आज़मगढ़ – दिनेश लाल यादव निरहुआ

49- सलेमपुर – रविन्द्र कुशवाहा

50- जौनपुर – कृपा शंकर सिंह

51- चंदौली – महेंद्र पांडेय

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *