किसान मेला का आयोजन किया गया

किसान मेला का आयोजन किया गया

रिपोर्टर:-राकेश वर्मा


आजमगढ़: आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज अयोध्या के अधीन संचलित कृषि विज्ञान केंद्र, आजमगढ़ द्वारा फसल अवशेष प्रबन्धन परियोजनान्तर्गत किसान मेला एवं कृषि प्रदर्शनी का आयोजन नव सृजित कृषि विज्ञान लदौरा फार्म पर किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में डॉ साधना पांडेय, प्रधान वैज्ञानिक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद-अटारी, कानपुर जोन-3 ने प्रतिभाग किया। डॉ0 साधना ने फसल अवशेषों को जलाने से मानव जीवन पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव, पोषण वाटिका बनाने हेतु तथा महिलाओं के पोषण संवर्धन पर विस्तृत चर्चा की।

कार्यक्रम में जनपद के प्रगतिशील कृषकों दुर्गेश सिंह, अनित प्रकाश सिंह, सूर्यनाथ यादव, श्रीनाथ यादव, नीलम मिश्रा, रामचंद्र व अनूप सिंह को मुख्य अतिथि डॉ0 साधना द्वारा सम्मानित किया गया। अटारी के प्रधान वैज्ञानिक ने कृषि विज्ञान केंद्र का भ्रमण कर केंद्र स्थापित प्रदर्श इकाइयों का अवलोकन किया। तत्पश्चात केन्द्र द्वारा ग्राम गन्धुवई, के प्रगतिशील कृषक इन्द्रसेन सिंह एवम अन्य किसानों द्वारा हैप्पी सीडर मशीन से कराए गये लगभग 60 एकड़ गेहूं के प्रदर्शन का भी अवलोकन किया।

मेले की अध्यक्षता कर रहे बसंत लाल जी, ब्लॉक प्रमुख ने किसानों को कृषि वैज्ञानिकों से जुड़कर फसल अवशेष प्रबंधन सहित अन्य नवीन तकनीकियों को अपनाने व वैज्ञानिक विधि से खेती-बाड़ी करने हेतु प्रेरित किया। डॉ0 के एम सिंह वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष के वीके आजमगढ़ ने जिले में चल रही फसल अवशेष परियोजना की उपलब्धियां, कियांवन एवं कृषि विज्ञान केंद्र पर चल रही संपूर्ण गतिविधियों के बारे में अवगत कराया। नवसृजित कृषि विज्ञान केंद्र, लदौरा, आजमगढ़ के प्रभारी अधिकारी डॉ0 आर के सिंह ने नवसृजित केवीके के उद्द्येश्यों व भविष्य में किये जाने वाले कार्यों के विषय में किसानों को अवगत कराया। वरिष्ठ वैज्ञानिक पादप सुरक्षा डॉ0 रुद्र प्रताप सिंह ने त्वरित कम्पोस्टिंग प्रक्रिया के द्वारा फसल अवशेषों का उपयोग कर सूक्ष्मजीव आधारित जैविक खाद बनाने के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ रणधीर नायक ने मृदा स्वास्थ्य एवं मृदा परीक्षण के महत्व एवम मृदा स्वाथ्य के बारे में बताया। इसी के साथ ही हनुमंत सिंह,जिला उपाध्यक्ष भाजपा, आजमगढ़ ने किसानों को प्राप्त हो रही किसान सम्मान निधि के बारे में, रानू प्रताप राणा, क्षेत्रीय मंत्री भाजपा, गोरखपुर ने किसानों की आय दोगुनी करने, रणविजय सिंह, प्रगतिशील कृषक फत्तेहपुर ने खेती बाड़ी में खाद एवं बीज का समुचित उपयोग करके कृषि लागत को कम करने व किसानों की आय दोगुना के बारे मे जानकारी दी।

अखिलेश न्यू हलोंड, मेराज अहमद, छात्र माँ शारदा स्नातकोत्तर महाविद्यालय गहजी, अहरौला, आजमगढ़ ने फसल अवशेष प्रबंधन के तकनीकी महत्व के बारे में बताया। मौसम वैज्ञानिक, डॉ0 तेजप्रताप सिंह ने केंद्र पर चल रही मौसम परियोजना के बारे में बताया व किसानों को विकास खंड वार बनाये गए व्हाट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने तथा मेघदूत व दामिनी एप्प को डाउनलोड करने हेतु प्रेरित किया। इस कार्यक्रम मे उपमन्यु सिंह, गिरजेश सिंह एवं दुर्ग विजय सिंह आदि का महत्वपूर्ण योगदान रहा। किसानों मेले में 600 से अधिक कृषक महिला एवं किसानों ने प्रतिभाग किया।

कार्यक्रम का संचालन डॉ0 रुद्र प्रताप सिंह ने एवं सभी आगंतुकों को धंयवाद ज्ञापन केंद्र के वैज्ञानिक डॉ0 अखिलेश यादव द्वारा किया गया। इस अवसर पर शशिभूषण डीडीएम नाबार्ड, श्रीमती शकुंतला सिंह जिला कार्यसमिति सदस्य भाजपा, हनुमंत प्रसाद सिंह जिला उपाध्यक्ष भाजपा, दिलीप सिंह जिला मंत्री लालगंज, प्रमोद कुमार राजभर मंडल महामंत्री, माहुल व बालमुकुंद सिंह प्रभारी तहबरपुर आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *