करखियाव शहीदों की धरती, नही रहेगा बदहाल: डॉ अवधेश सिंह

करखियाव शहीदों की धरती, नही रहेगा बदहाल: डॉ अवधेश सिंह

  • भारत छोड़ो आंदोलन के सेनानियों के गांव में उनके परिजनों को किया गया सम्मानित
  • महेश पाण्डेय ब्यूरो चीफ

वाराणसी/पिंडरा। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की प्रेरणादायी जनक्रांति चौरी चौरा आंदोलन के शताब्दी महोत्सव के तहत पिंडरा विकास खण्ड के 26 स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के गांव करखियाव स्थित स्वंतन्त्रता संग्राम सेनानी स्मृति स्थल पर गुरुवार को स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों को अंगवस्त्र व माल्यर्पण कर सम्मानित किया गया। करखियाव के संविलियन विद्यालय परिसर में आयोजित शताब्दी समारोह को सम्बोधित करते हुए विधायक डॉ अवधेश सिंह ने कहाकि पिंडरा विकास खण्ड का यह गांव युवाओं के किये प्रेरणास्रोत है।

जिस गांव में 26 स्वतंत्रता सेनानी हो वह गांव उपेक्षित रहे। ऐसा नही हो सकता था। इस दौरान विधायक ने स्मृति स्थल का सुंदरीकरण, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के गांव तक एक किमी सड़क, पेयजल की व्यवस्था करने की घोषणा की। वही तहसील रामनाथ ने चौरी चौरा कांड के गवाह बने उस थाने की तस्वीर को रखा जहाँ देशभक्तों ने अग्रेजो को पीछे ढकेल दिया था। वही बीडीओ ने सेनानियों के परिजनों को नमन करते हुए देशभक्ति की भावना की लहर दौड़ाई ।

खण्ड शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार सिंह ने चौरी चौरा आंदोलन के बाबत विस्तृत जानकारी देते हुए उनके त्याग और बलिदान को याद किया। इसके अलावा पूर्व प्रमुख सुरेन्द्र सिंह, पूर्व स्वतंत्रता सेनानी के परिजन विक्रमादित्य सिंह, धनंजय सिंह, पवन सिंह ने सम्बोधित किया।

स्वागत विद्यालय के प्रधानाचार्य महेंद्र प्रसाद व संचालन दानबहादुर सिंह ने किया। इस दौरान सरमेश सिंह, अजय ऊदल, अभिषेक राजपूत , अश्वनी राजपूत, दिनेश सिंह, सतीश पांडेय, प्रफुल्ल मौर्या, श्रीनाथ गोंड़, डॉ वीरेंद्र विश्वकर्मा, अतुल रावत समेत व स्वतंत्रता सेनानी के परिजन व गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *