पिता के निधन पर उनके त्रयोदशा में शामिल

  • संवाददाता प्रदीप दुबे

गाजीपुर। कहां जाता है कि ऊपर वाले की मर्जी के बिना एक पत्ता भी नहीं हिलता है। उसके इशारे पर जीवन चलता है। कुछ ऐसा ही हुआ देवल गांव निवासी हरेंद्र राम (37) के साथ। वह गोवा में रहकर काम करता था। पिता के निधन पर उनके त्रयोदशा में शामिल होने के लिए 02741 वास्को डिगामा-पटना एक्सप्रेस से दिलदारनगर आ रहा था। सुबह 8.15 बजे ट्रेन के डाउन प्लेटफार्म पर रुकने पर उतरते समय गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया।

आनन-फानन में जीआरपी पुलिस 108 एम्बुलेंस से उसे उपचार के लिए अस्पताल ला रही थी। इसी दौरान रास्ते में उसकी मौत हो गई। मृतक के पास मिले कागजात से जीआरपी ने दुर्घटना की जानकारी परिजनों को दी। परिवार के लोग मौके पर पहुंचे। शव पर नजर पड़ते ही चीखने-चिल्लाने लगे। इस घटना से पूरा गांव शोक में डूब गया। लोग दुखी मन से आपस में बातें करते रहे कि ऊपर वाले का खेल भी निराला होता है।

पिता के त्रयोदशा से पहले ही पुत्र को इस दुनिया से विदा कर दिया। इस संबंध में जीआरपी चौकी इंचार्ज बीके मिश्र ने बताया कि लिखा-पढ़ी के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *