एक्शन एड के राज्य स्तरीय मानवाधिकार प्रशिक्षण में विभिन्न अधिकारों का प्रयोग करने की जानकारी दी गयी

एक्शन एड के राज्य स्तरीय मानवाधिकार प्रशिक्षण में विभिन्न अधिकारों का प्रयोग करने की जानकारी दी गयी

  • मानवाधिकार रक्षकों ने महामारी के दौर में ऑनलाइन क्रांति नई तकनीक के साथ महिला और साइबर सुरक्षा का पाठ पढ़ा।

संवाददाता राजकुमार गुप्ता

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में “एक्शन एड” की ओर से राज्य स्तरीय दो दिवसीय मानव अधिकार रक्षकों को प्रशिक्षण गुरूवार को आरम्भ हुयी. इस प्रशिक्षण में एक दर्जन से अधिक जिलों के 60 से अधिक प्रतिभागी शामिल हुए।

प्रथम दिन नागरिक अधिकार, महिला अधिकार, फ़ैक्ट् फ़ाइंडिंग सूचना के अधिकार, शिक्षा के अधिकार, जन हित गारंटी, खाद्य सुरक्षा क़ानून, मनरेगा आदि अधिकारों के बारे में प्रशिक्षण और साहित्य उपलब्ध कराया गया। इन अधिकारों के व्यापक प्रचार प्रसार और प्रयोग की आवश्कता बतायी गयी।

एड 2

दूसरे दिन प्रशिक्षण शिविर में कोरोना काल के समय से बढ़ते अपराधों के रोकथाम और सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक किया गया। सक्रिय सामाजिक कार्यकर्ताओं और ग्रामीण युवाओं को डिजिटलीकरण, आनलाइन पेपरलेस शिकायत, सुझाव के विभिन्न एप से परिचित कराने के लिए उक्त प्रशिक्षण शिविर में सरकारी जन पोर्टलों सोशल मीडिया, आनलाइन पेपरलेस के विभिन्न प्लेटफॉर्म की तकनीक स्वरूप के बारे में जानकारी ट्रेनिंग दी गई।

बतौर प्रशिक्षक, अधिवक्ता लालचंद, देवेंद्र गांधी, मोहम्मद आरिफ़, राजकुमार गुप्ता ने युवाओं के भविष्य के लिए नागरिक अधिकारों व विभिन्न क़ानूनो, योजनाओं की उपयोगिता पर कार्यशाला मे ग्रामीण युवाओं को अहम जानकारियां बहुत बेहतरीन तरीके से उपस्थित प्रतिभागियों को समझाया और प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न लघु फिल्मो का प्रदर्शन भी किया गया।

एड 1 1

अध्यक्षता करते हुए एक्शन एड एसोसिएट डायरेक्ट ख़ालिद चौधरी ने कहा स्वयं में सचेत रह कर और समाज को जागरूक करके ही व्यवस्था में वांछित सुधार लाया जा सकता है।

कार्यक्रम समन्वयक गंगेश बाबू गौतम ने प्रतिभागियों का आह्वान करते हुए कहा कि वे कार्यशाला में प्राप्त जानकारी का भरपूर उपयोग समाज में लोगो को जागृत करने कि दिशा में करें।

परियोजना अधिकारी मोहम्मद फराज ने बताया कि प्रशिक्षण शिविर का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण युवाओं को नकारात्मक पहलुओं से अवगत कराते हुए उनके लिए सुरक्षित माहौल तैयार करना है।

जिससे ग्रामीणों को जागरूक बनाकर उन्हें सुरक्षा कवच दिया जा सकता है। संचालन राम किशोर चौहान व कमलेश कुमार ने किया। इस अवसर पर महराजगंज से दिनेश कुमार, कुशीनगर से राम बिलाश, मिर्जामपुर से सलिका देवी, जौनपुर से ख़ुश्बू राव, मुज़फ़्फ़रनगर से कविता, देवरिया से मोहम्मद जमील अहमद, बलिया से इमरान, ग़ाज़ीपुर से यशवीर, सोनभद्र से अनिल, सहारनपुर से कोपिन कुमार आदि लोग प्रमुख से उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *