महंगाई ने बिगाड़ा रसोई का बजट गृहणियां परेशान

महंगाई ने बिगाड़ा रसोई का बजट गृहणियां परेशान

  • संवाददाता कमलेश गुप्ता

रोहनिया: कोरोना संक्रमण के चलते महंगाई चरम सीमा पर बढ़ता जा रहा है सब्जियों के दाम घटे तो सरसों तेल ने महंगाई का तड़का लगा दिया है जिससे गृहणियों को रसोई का बजट सम्भालने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

पिछले 2 महीनों से बेतहाशा बढ़े सब्जियों के दाम बढ़ने से आम आदमी की कमर तोड़ कर रख दिया था लेकिन कुछ दिनों से सब्जियों के दामो में कमी आयी तो लोगो ने राहत की सांस ली ही थी कि तब तक तेल खाद्य पदार्थो ने महंगाई का तड़का लगा दिया।

घरो में प्रयोग होने वाला ब्रांडेड सरसों का तेल 130 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 180 रुपये प्रति लीटर हो गया। वही 120 रुपये में बिकने वाले रिफाइंड का दाम 160 रुपये होने से लॉक डाउन में घर बैठे लोगों को खाने के स्वाद को ही बिगाड़ दिया है। सरसों तेल रिफाइंड सहित पाम आयल के दामों में बेतहाशा वृद्धि होने से किचन संभाल रही गृहणियों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

पयागपुर निवासी गृहणी निशा त्रिपाठी ने कहा कि तेल किचन का सबसे महत्वपूर्ण वस्तु है सरसों तेल के दामों में वृद्धि के कारण कम उपयोग किया जा रहा है इसे भोजन से स्वाद में असर फीका पड़ा है पूजा उपाध्याय ने कहा कि अभी तक सब्जियों के दाम बढ़ने से परेशानी हो रही थी अब सरसों तेल के मंगाई ने किचन का बजट बिगाड़ दिया है।

सगघट रोहनिया निवासी पिंकी श्रीवास्तव ने कहा कि तेल के दामों में बेतहाशा वृद्धि ने आम आदमी को बेहाल कर रखा है मांगे तेल की वजह से जहां खाने के स्वाद में कमी आई है वहीं चटपटी चीजों से परहेज आम आदमी की मजबूरी बन गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *