Fri. Feb 23rd, 2024

Hit & Run Law: खत्म हो गई ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल, कई घंटों तक चर्चा के बाद निकला हल 

Hit and run law

Hit & Run Law: देशभर में जारी ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल पर देर शाम राहत भरी खबर सामने आई है। सरकार और ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के बीच सुलह हो गई है। ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने ट्रक ड्राइवरों से अपील की है कि वह काम पर लौटें। बता दें कि गृह सचिव और ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के बीच कई घंटों तक की चर्चा के बाद यह हल निकला है। सरकार ने बताया कि हिट एंड रन कानून अभी लागू नहीं होगा। कानून लागू होने से पहले बात होगी। नए कानून के मुताबिक, हिट एंड रन मामले में 10 साल की सजा का प्रावधान है। इसके अलावा 7 लाख रुपये तक का जुर्माना भी भरना पड़ेगा। कानून के अनुसार, अगर कोई व्यक्ति घायल को अस्पताल पहुंचाता है तो उसकी सजा कम हो सकती है। 

हिट-एंड-रन’ (दुर्घटना के बाद मौके से भाग जाना) मामलों के लिए नए आपराधिक कानून भारतीय न्याय संहिता (बीएनएस) के तहत जेल और जुर्माने की सज़ा के कड़े प्रावधान है जिसके खिलाफ कुछ ट्रक, बस और टैंकर संचालकों ने सोमवार को तीन दिवसीय हड़ताल शुरू की। लगभग एक लाख ट्रक तेल कंपनी डिपो से पेट्रोल पंप और गैस वितरण एजेंसियों तक पेट्रोल और डीजल के साथ-साथ एलपीजी की आपूर्ति करते हैं। हड़ताल से कुछ पश्चिमी और उत्तरी राज्यों में ट्रकों की आवाजाही प्रभावित हुई है। एलपीजी ले जाने वाले ट्रकों की आवाजाही पर भी असर पड़ा है।

ट्रक चालकों ने कानून को बताया अनुचित

औपनिवेशिक युग की भारतीय दंड संहिता की जगह लेने वाले भारतीय न्याय संहिता (बीएनएस) में प्रावधान है कि लापरवाही से गाड़ी चलाकर गंभीर सड़क दुर्घटना का कारण बनने वाले और पुलिस या प्रशासन के किसी भी अधिकारी को सूचित किए बिना भागने वाले वाहन चालकों को 10 साल तक की सजा या सात लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है। ट्रक चालकों ने कहा कि ज्यादातर ट्रक चालक छोटी-मोटी दुर्घटनाओं के बाद भी भाग जाते हैं क्योंकि उन्हें भीड़ द्वारा पीटने और अपनी जान का डर होता है। उन्होंने कहा कि आमतौर पर भीड़ को सजा नहीं मिलती जबकि चालकों के लिए कड़ी सजा का प्रावधान अनुचित है।

2000 पेट्रोल पर खत्म हुआ तेल

ट्रक चालक ऐसोसिएशन की हड़ताल के मंगलवार को दूसरे दिन में प्रवेश करने के बीच उत्तर और पश्चिम भारत के करीब दो हजार पेट्रोल पंपों में ईंधन का भंडार खत्म हो गया। पेट्रोलियम उद्योग से जुड़े लोगों ने बताया कि सरकारी तेल कंपनियों ने ट्रक चालकों की हड़ताल की आशंका के मद्देजनर देश भर के अधिकांश पेट्रोल पंपों पर टैंक भर दिए थे, लेकिन राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और पंजाब में कुछ पेट्रोल पंपों पर भारी भीड़ के कारण ईंधन खत्म हो गया है। इन राज्यों में ईंधन का भंडार खत्म होने की आशंका पैदा हो गई है जिससे कई पेट्रोल पंपों पर लंबी कतारें देखी गईं।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *