ADS (6)
ADS (5)
ADS (4)
ADS (3)
ADS (2)
previous arrow
next arrow
 
ADS (6)
ADS (5)
ADS (4)
ADS (3)
ADS (2)
previous arrow
next arrow
Shadow

गणेशोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है

Ganesh Visarjan

Ganesh Visarjan

अहमदाबाद: गुजरात में श्री गणेश जी के जन्म दिवस गणेश चतुर्थी पर शनिवार को भगवान गणेश की मूर्तियों की घर-घर स्थापना कर गणेशोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है।

राज्यभर में गणपति भगवान की सुंदर इको फ्रेंडली प्रतिमाओं की सुबह से ही “एक दो तीन चार, गणपति नो जय जय कार“ जयकारों के साथ घर-घर स्थापना की गयी। दस दिनों तक वातावरण में “गणपति बप्पा मोरया“ और “गणपति आयो बाप्पा-गणपति आयो, रिद्धि-सिद्धि लायो बाप्पा रिद्धि-सिद्धि लायो, गजानन आयो-रिद्धि सिद्धि लायो की ध्वनि गुंजायमान रहेगी। इस बार कोरोना संक्रमण के कारण बडे आयोजन नहीं हो रहे। लेकिन मंदिरों से गणपति बाप्पा के ऑनलाइन दर्शनों के लिए लाइव प्रसारण किए जाएंगे।

वैश्विक महामारी कोरोना के चलते राज्य में इस साल हर साल की तरह ढोल, नगाडों, बैंड-बाजों की धुन पर गुलाल उड़ाते हुए नाचते गाते दो दिन पहले से ही अपने-अपने घरों, मंदिरों, पांडालों में ले जाते लोगों की भीड़ नजर नहीं आयी। लेकिन ऐसी मान्यता है कि “सभी मांगलिक कार्यों की शुरुआत भगवान श्री गणपति जी” के पूजन से किये जाने पर समस्त काम उनकी कृपा से निर्विघ्न पूरे हो जाते है। इसलिए बड़ी संख्या में भक्तों ने अपने अपने घरों में मिट्टी, चॉकलेट तथा अन्य चीजों से गणेश मूर्ति बनायीं और कुछ लोगों ने मिट्टी से बनी सजी हुयी गणपति प्रतिमाओं को बाजार से खरीद कर नाचते गाते घर पर ही स्थापित कर भगवान का अभिषेक, पूजा-अर्चना और आरती की है।

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने लोगों को गणेश चतुर्थी पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कामना की है कि विघ्नहर्ता भगवान श्री गणेश का यह पर्व कोरोना महामारी सहित हर प्रकार के विघ्नों और संकटों का निवारण कर गुजरात को प्रगतिशील, विकसित, सुखी-समृद्ध और शक्तिशाली बनाएगा। उन्होंने वर्तमान परिस्थिति में आराधना-उपासना के लिए घर पर ही इको फ्रेंडली गणेश मूर्ति की स्थापना करने और सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) के नियमों का पालन करने का सभी से आग्रह किया है।

राज्य सरकार के गृह विभाग ने पहले ही अधिसूचना जारी कर कोरोना संकट के मद्देनजर आने वाले दिनों में गणेश चतुर्थी, मोहर्रम और अन्य पर्वों के मौके पर किसी तरह के जुलूस अथवा भीड़-भाड़ वाले आयोजन पर रोक लगा दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *