किताबों तक ही सिमट कर रह गये थे, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी

किताबों तक ही सिमट कर रह गये थे, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी

  • जिन्हे सम्मान दिलाने का का बीड़ा उठाया सरकार ने सेनानियों की प्रतिमाओं पर किया गया माल्यार्पण।

वाराणसी/सेवापुरी: देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहूती देने वाले बलिदानियों का नाम लेते ही गर्व से सीना चौड़ा हो जाता है।गोरे अंग्रेजो की क्रूर यातनाओ को झेलते हुये भूखे पेट वर्षो जेलों में यातना झेल देश को आजाद कराने वाले ।

सेनानियों का नाम केवल सरकार के सूचना विभाग की किताबों तक ही सिमट कर रह गया था ।जिस क्रम में गुरुवार को चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव के अवसर पर शासन के मंशा के अनुरूप कपसेठी पुलिस ने गाजे-बाजे के साथ कपसेठी चौराहे पर स्थित स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राष्ट्र बीर निहाला सिंह व भीषमपुर गांव में पहुँच सहीद आइएएस अधिकारी दशरथ पाल के प्रतिमा पर दीप प्रज्वलित कर माल्यार्पण किया कार्यक्रम मे एसआइ मनीष मिश्र राजदर्पण तिवारी धरमचंद बिनय यादव सामिल रहे इसी क्रम मे जंसा चौराहे पर लगी सेनानी राजबिहारी सिंह की प्रतिमा पर जिला उधान अधिकारी संदीप गुप्ता ने माल्यार्पण किया।

रिपोर्ट:-विनोद कुमार सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *