सुख-सुविधाओं को भूलकर बच्चों की पढ़ाई लिखाई में लगा रहा,आज बच्चों को कामयाबी मिली

संवाददाता प्रदीप दुबे

ग़ाज़ीपुर जखनिया विधानसभा के जखनिया बाजार में कमला यादव ने अपने कठिन परिश्रम और लगन के वजह से अपने तीन बेटों में सबसे बड़ा बेटे को पीसीएस पवन यादव बने जबकि दूसरे बेटे को शिक्षक डायट ,तीसरे बेटे शिक्षक के पद तैनात है। पब्लिक्वाइब के रिपोर्टर से हुई विशेष वार्ता में कमला यादव ने बताया कि जब 3 दशक पूर्व हुरमुजपुर हाल्ट के वृंदावन गांव से अपने बच्चों के साथ जखनियां बाजार में आया था उस वक्त भाड़े के मकान में रह कर छोटे-मोटे धंधे करने के बाद एक हार्डवेयर का दुकान खोला था। हार्डवेयर की दुकान से अपने बड़े बेटे पवन सिंह यादव को पढ़ा लिखा कर पीसीएस में आबकारी विभाग में कामयाबी। जबकि दूसरे बेटे बिंदेश्वरी यादव आयोग से डायट नियुक्ति मिली तथा तीसरे बेटे मनीष कुमार यादव शिक्षक पद पर तैनात है। यह पूरी तरह से हार्डवेयर दुकान की वजह से मैंने अपनी सुख-सुविधाओं को भूलकर बच्चों की पढ़ाई लिखाई में लगा रहा। आज बच्चों को कामयाबी मिली जिससे अपना सीना भी फक्र से ऊंचा हो गया। यही नहीं अब अपना निजी मकान है दुकान है तमाम संसाधन व्यवस्थाएं हो चुकी है कभी-कभी उस दिन याद आती है जब जखनिया में मैं दयनीय हालात में कदम रखा था। मैं हर पिता से यही कहना चाहूंगा कि अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाएंगे तो 1 दिन कामयाबी जरूर मिलेगी। कमला यादव के साथ रमेश चन्द्र पाण्डेय, जयराज यति भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *