कार्यालय बाढ खण्ड आजमगढ़ में 01 जून से 31 अक्टूबर तक के लिए बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित, समन्वय,सूचनाओं को अधिकारिक स्तर पर आदान प्रदान करेंगे

कार्यालय बाढ खण्ड आजमगढ़ में 01 जून से 31 अक्टूबर तक के लिए बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित, समन्वय,सूचनाओं को अधिकारिक स्तर पर आदान प्रदान करेंगे

संवाददाता:-राकेश वर्मा

आजमगढ़ के जिलाधिकारी राजेश कुमार के निर्देश पर वर्ष 2021 के बाढ़ कार्यों को सुचारू रूप से सम्पादन करने हेतु बाढ़ सम्बन्धित सूचनाओं को अधिकारिक स्तर पर आदान -प्रदान हेतु कार्यालय बाढ खण्ड आजमगढ़ में 01 जून 2021 से 31 अक्टूबर 2021 तक के लिए बाढ़ नियन्त्रण कक्ष स्थापित किया जाता है।अधिशासी अभियंता बाढ़ खंड ने बताया कि बाढ़ नियन्त्रण कक्ष 24 घण्टे नियमित रूप से कार्यरत रहेगा, जिसका दूरभाष नं0 05462-246167 है। उन्होंने बताया कि कक्ष के संचालन हेतु पाली ग्रुप क के लिए सुरेंद्र प्रकाश प्रधान सहायक, पाली ग्रुप ख के लिए श्रीकांत राम वरिष्ठ सहायक, पाली ग्रुप ग के लिए रमन कुमार गौतम वरिष्ठ सहायक तथा पाली ग्रुप घ के लिए मूरत राम वरिष्ठ सहायक तथा कक्ष इंचार्ज सहायक अभियंता प्रथम को नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि बाढ़ कक्ष में पदस्थापित कर्मचारी अनिवार्य रूप से पाली ग्रुप के अनुसार अपने कर्तव्यों का पालन निर्धारित समयानुसार करेंगें। बाढ़ नियन्त्रण कक्ष में बाढ़ सम्बन्धित सूचनाए गेज आदि दूर संचार एवं अन्य माध्यम से प्रतिदिन उच्चाधिकारियों को भेजने का सम्पूर्ण उत्तरदायित्व कक्ष इन्चार्ज एवं पाली इन्चार्ज का होगा। बाढ़ नियन्त्रण कक्ष में प्राप्त आकस्मिक सूचनाएं आवश्यक रूप से बाढ़ पंजिका रजिस्टर में दर्ज की जायेगी तथा उच्चाधिकारियों को अवगत कराना होगा। बाढ़ नियन्त्रण कक्ष में पदस्थापित कर्मचारी अवकाश पर जाने से पूर्व प्रार्थना पत्र पाली इन्चार्ज एवं कक्ष इन्चार्ज से पूर्व स्वीकृति के उपरान्त ही प्रस्थान करेगा। ऐसा न करने पर सम्बन्धित कर्मचारी को दण्डित किया जायेगा। कक्ष में पदस्थापित कर्मचारी की उपस्थिति कक्ष इन्चार्ज द्वारा इनके सम्बन्धित खण्ड को प्रत्येक माह के 18 तारीख तक भेजना अनिवार्य होगा। सहायक अभियन्ता द्वितीय बाढ़ खण्ड आजमगढ़ को यह निर्देश दिया जा रहा है कि महुला गढ़वल तटबन्ध के डिघिया नाला से गेज प्रतिदिन प्राप्त कर बाढ़ नियन्त्रण कक्ष आजमगढ़ को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। सुबह 8:00 का गेज शाही सेंट्रल पुल से प्राप्त करने हेतु हरिशंकर यादव को निर्देशित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *