Fri. Feb 23rd, 2024

FlashBack 2023: इस साल देश ने अपने नाम किए 10 वर्ल्ड रिकॉर्ड, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज हुआ देश का नाम

FlashBack 2023: साल 2023 का अंत नजदीक है, मात्र पांच दिनों बाद ये साल समाप्त होगा और नया साल 2024 शुरू होगा। ऐसे में आज हम यहां बात करेंगे की भारत ने इस साल ऐसी कौनसी उपलब्ध्यिां हासिल की है जोे हमेशा याद रखी जाएगी। तो आज जान लेते है उनके बारे में।

देश के नाम हुए कई रिकॉर्ड

भारत सरकार की ओर से एक खास वीडियो भी शेयर किया गया है, जिसमें 10 ऐसी उपलब्धियों का जिक्र किया है, जिसने वैश्विक मंच पर भारत की अमिट छाप छोड़ी है। इस खबर में आपको बताएंगे कि किन 10 उपलब्धियों ने भारत को एक नए मुकाम पर पहुंचा दिया है।

संयुक्त राष्ट्र में पीएम मोदी का योग सेशन 

बता दें की इस साल पीएम मोदी के नेतृत्व में संयुक्त राष्ट्र में विशाल योग सत्र का आयोजन हुआ। इसका वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बना। योग कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ कई देशों के लोगों ने योग किया था। एक साथ कई देशों के लोगों के साथ में योग करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बना है। इस कार्यक्रम से भारत ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया।

दुनिया की सबसे लंबी नदी क्रूज

इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल दुनिया की सबसे लंबी नदी क्रूज और भारत की पहली निर्मित क्रूज जहाज एमवी गंगा विलास को लॉन्च किया। यह क्रूज 3200 किमी की दूरी को 51 दिनों में पूरा करता है। इस क्रूज में तीन डेक, 18 सुइट्स, 36 पर्यटकों की सुविधा और आधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं।

रक्षा उपकरण आयातक से निर्यातक बना भारत

भारत के रक्षा क्षेत्र के लिए 2023 एक ऐतिहासिक वर्ष रहा जिसमें रक्षा निर्यात और उत्पादन में अभूतपूर्व वृद्धि हुई। देश अब अपने रक्षा उद्योग की शक्ति का प्रदर्शन करते हुए 85 से अधिक देशों को निर्यात कर रहा है। भारत सरकार के शुद्ध आयातक से शुद्ध निर्यातक बनने के रणनीतिक परिवर्तन ने देश के रक्षा क्षेत्र को नई ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया है। रक्षा निर्यात में वृद्धि देखी गई जो वित्तीय वर्ष में अभूतपूर्व 16,000 करोड़ तक पहुंच गया। पिछले वर्ष की तुलना में यह लगभग 3,000 करोड़ रुपए अधिक है। एल.सी.ए.-तेजस, हल्के लड़ाकू हैलीकॉप्टर, विमान वाहक और अन्य उत्पादों में उल्लेखनीय रुचि के साथ भारत की रक्षा क्षमताओं की वैश्विक मांग में काफी वृद्धि देखी गई।

लोकतंत्र का नया मंदिर

खट्टी-मीठी यादें देकर वर्ष 2023 कुछ ही दिनों में समाप्त होने वाला है। यह वर्ष देश को बहुत कुछ देकर गया। इस वर्ष विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत को नए संसद भवन के रूप में लोकतंत्र का नया मंदिर मिला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मई महीने में इस नए संसद भवन का उद्घाटन किया। 1200 करोड़ में बने विशाल भवन में लोकसभा कक्ष में 888 सदस्य और राज्यसभा कक्ष में 300 सदस्य आराम से बैठ सकते हैं। दोनों सदनों की संयुक्त बैठक होने की स्थिति में लोकसभा कक्ष में कुल 1280 सदस्य बैठ सकते हैं।

पी. एम. मोदी ने 10 दिसम्बर 2020 को नए संसद भवन की आधारशिला रखी थी और तीन वर्ष से कम समय में यह बनकर तैयार खड़ा है। 64,500 वर्ग मीटर में फैली ये चार मंजिला इमारत त्रिकोणीय आकार की है। एरिया के हिसाब से देखें तो यह पुराने संसद भवन से करीब 17,000 वर्ग मीटर बड़ा है। इसके अलावा इसे अत्याधुनिक तकनीक से तैयार किया गया है और इस पर भूकंप का असर नहीं होगा।

एन.डी.ए. की प्रतिस्पर्धा में ‘इंडिया’

18 जुलाई, 2023 को एक गठबंधन की घोषणा की गई और इसे ‘इंडिया’ (भारतीय राष्ट्रीय विकासात्मक समावेशी गठबंधन) नाम दिया गया। कांग्रेस के नेतृत्व में भारत में 28 राजनीतिक दलों का एक बड़ा राजनीतिक गठबंधन है। गठबंधन का प्राथमिक उद्देश्य 2024 के आम चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार को हराना है।

ऐतिहासिक ‘सुप्रीम’ आदेश ARTICLE 370- अनुच्छेद 370 समाप्त करने पर मुहर

इस वर्ष कानूनी रूप से सुप्रीम कोर्ट के जिस फैसले को हमेशा याद रखा जाएगा, वह जम्मू-कश्मीर राज्य को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म करने के केंद्र के फैसले को मंजूरी देने वाले ऐतिहासिक फैसले से जुड़ा है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के फैसले को वैध ठहराया। शीर्ष कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि जम्मू-कश्मीर के पास भारत में विलय के बाद आंतरिक संप्रभुता का अधिकार नहीं है। मुख्य चुनाव आयुक्त की नियुक्ति के लिए पैनल : शीर्ष कोर्ट ने चुनाव आयुक्तों की नियुक्ति को लेकर भी बड़ा और अहम फैसला सुनाया। शीर्ष कोर्ट की संवैधानिक पीठ ने मार्च में ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए कहा था कि मुख्य चुनाव आयुक्त और चुनाव आयुक्तों की नियुक्ति एक पैनल के जरिए की जाएगी। इस पैनल में प्रधानमंत्री, सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश और लोकसभा के नेता प्रतिपक्ष (सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता) को शामिल किया जाएगा।

जल्लीकट्टू को वैधता :

तमिलनाडु के पारंपरिक जल्लीकट्टू खेल को अनुमति देने वाले कानून की वैधता पर भी सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई पूरी करते हुए फैसला सुनाया। मई में सुनाए गए इस फैसले में कोर्ट ने इसे कानूनन वैध ‘करार’ दिया। सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में कहा कि राज्य सरकार के नए कानून में पशु क्रूरता के हर विषय को ध्यान में रखा गया है।

चांद पर उतरा भारत

भारत के वैज्ञानिकों ने अपनी प्रतिभा से झंडे चांद पर भी गाड़ दिए। यह मिशन चंद्रयान-2 की अगली कड़ी था, क्योंकि पिछला मिशन सफलतापूर्वक चांद की कक्षा में प्रवेश करने के बाद अंतिम समय में मार्गदर्शन सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी के कारण उत्तरने की नियंत्रित प्रक्रिया में विफल हो गया था। सॉफ्ट लैंडिंग का पुनः सफल प्रयास करने के लिए इस नई चंद्र परियोजना को प्रस्तावित किया गया था।

चंद्रयान-3 का प्रक्षेपण सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, श्रीहरिकोटा से 14 जुलाई 2023 शुक्रवार को भारतीय समय अनुसार दोपहर 2.35 बजे हुआ था। यह यान चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के पास की सतह पर 23 अगस्त 2023 को भारतीय समय अनुसार सायं 06.04 बजे के आसपास सफलतापूर्वक उत्तरा। इसके साथ भारत चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सफलतापूर्वक अंतरिक्ष यान उतारने वाला पहला और चंद्रमा पर उतरने वाला चौथा देश बन गया।

अयोग्य घोषित हुए राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से लोकसभा सांसद राहुल गांधी को अदालत के फैसले के बाद संसद सदस्यता से अयोग्य घोषित कर दिया गया। ‘मोदी सरनेम मानहानि केस’ में राहुल गांधी को 2 वर्ष जेल की सजा सुनाई गई। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इस फैसले पर रोक लगा दी, जिसके बाद राहुल गांधी एक बार फिर से सांसद बनने के पात्र हो गए।

दिल्ली के डिप्टी सी.एम. मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को 26 फरवरी को सी.बी.आई. ने गिरफ्तार कर लिया। सिसोदिया की यह गिरफ्तारी शराब नीति से जुड़े मामले में हुई।

इन्होंने साथ छोड़ा

प्रकाश सिंह बादल : देश की राजनीति के चर्चित राजनेताओं में शामिल नाम। वह 1970- 1971 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे। उसके बाद वह 1997-2002 और 2007-2017 तक मुख्यमंत्री रहे।

शरद यादवः जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे शरद यादव का निधन 12 जनवरी, 2023 को हुआ। वह 7 बार लोकसभा का चुनाव जीतकर सांसद बने थे। 4 बार राज्यसभा के जरिए संसद में पहुंचे थे।

सतीश कौशिक : फिल्म निर्माता-निर्देशक के साथ-साथ एक बहुत अच्छे एक्टर थे। उनका 9 मार्च, 2023 को दिल का दौरा पड़ने से 66 साल की आयु में निधन हो गया था।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *