Sat. Feb 24th, 2024

पहली ‘ईयू-भारत ट्रैक 1.5 वार्ता” का भारत में आयोजन, मानव रहित हवाई टेक्नोलॉजी के खतरों पर चर्चा

EU-India Track 1.5: पहली ‘यूरोपीय संघ-भारत ट्रैक 1.5 वार्ता’ बृहस्पतिवार को यहां आयोजित होगी। इसमें चरमपंथियों और राज्य से इतर तत्वों द्वारा मानव रहित हवाई प्रणालियों (यूएएस) के इस्तेमाल का मुकाबला करने के तरीकों पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा। दिल्ली में दिनभर चलने वाली इस वार्ता का उद्देश्य यूएएस तकनीक से जुड़े वर्तमान और उभरते खतरों की सीमा को बेहतर ढंग से समझना और चरमपंथी समूहों द्वारा इसके इस्तेमाल को रोकना है।

दिल्ली में यूरोपीय संघ मिशन ने कहा कि यूरोपीय संघ और भारत से प्रतिभागी दोनों क्षेत्रों में यूएएस खतरों से निपटने के लिए नियामक, सामरिक और खोजी प्रतिक्रियाओं के संबंध में सर्वोत्तम तरीकों पर भी चर्चा करेंगे। यह बैठक यूरोपीय संघ और भारत के बीच जारी आतंकवाद रोधी गतिविधियों की एक श्रृंखला का हिस्सा है।

भारत में यूरोपीय संघ के राजदूत हर्वे डेल्फिन ने कहा कि सुरक्षा और आतंकवादी खतरे लगातार मिश्रित प्रकृति के होते जा रहे हैं और वाणिज्यिक ड्रोन का इस्तेमाल इसका एक उदाहरण है। उन्होंने कहा, ‘‘तेजी से विकसित हो रहे इस क्षेत्र में ड्रोन के खतरों का मुकाबला करने के लिए हमारे, यूरोपीय संघ और भारत के बीच ज्ञान और अनुभव साझा करना बहुत प्रासंगिक और महत्वपूर्ण है।”

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *