क्या केवल लॉक डाउन से सरकार की जिम्मेदारी खत्म हो जाती है?

क्या केवल लॉक डाउन से सरकार की जिम्मेदारी खत्म हो जाती है?

ADS BOOK

Sanjay Sharma Raj
संजय शर्मा 'राज'

ज जनता घर मे बैठी है तो घर खर्च, स्कूल फीस, लोन स्टॉलमेंट, दुकान व घर का भाड़ा, बिजली बिल इत्यादि कहाँ से देगी? ऐसे ही हर जगह लॉक डाउन बढ़ाते रहे तो लोग कॅरोना से मरे या ना मरे लेकिन टेंसन में व भूख से लोग मर जायेंगे? क्या सब के पास अथाह पैसा रक्खा है जो कि बर्षो चलेगा?

coronavirus case

मास्क ना पहनों तो फाइन, दुकान खोलो तो फाइन, बाहर निकालो तो फाइन, शादी में ज्यादा लोग तो फाइन, गाड़ी या रिक्शा या टैक्सी में ज्यादा लोग तो फाइन क्या फाइन के लिए लॉक डाउन है? यदि जनता घर पर बैठती है तो उसका घर खर्च कैसे चलेगा, लोग जीवनयापन कैसे करेंगे?

pandemic coronavirus facemask scaled

प्रिय मित्रों: 
अगर आप एक अच्छे लेखक है तो आप हमें संपादकीय लिख कर या किसी भी मुद्दे से संबधित अपनी राय, सुझाव और प्रतिक्रियाएं हमारे ई-मेल पर भेज सकते हैं । अगर हमारें संपादक को अपका लेख या मुद्दा सही लगा तो हम आपके मुद्दे को अपने समाचार पत्र एवं वेबसाइटपर प्रकाशित किया जाएगा। आप अपना पूरा नाम,फोटो व स्थान का नाम जरुर लिखकर भेजें।

क्या यह सोचना सरकार का फर्ज नहीं है?क्या सरकार को नहीं चाहिये कि लोगो की स्कूल फीस, बिजली बिल, गैस बिल, घर का व दुकान का किराया, होम लोन का स्टॉलमेंट इत्यादि में किसी भी एक महीने या दो महीने की छूट दिलाने की या देने की कोशिश करें?

(डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं)

ADS BOOK 2

ADS BOOK

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *