सम्पूर्ण समाधान दिवस पर आये 73 मामले डीएम ने किया लेखपाल को स्थानांतरित।

सम्पूर्ण समाधान दिवस पर आये 73 मामले डीएम ने किया लेखपाल को स्थानांतरित।

महेश पाण्डेय ब्यूरो चीफ यूपी

पिंडरा। पिंडरा तहसील के सभागार में शनिवार को आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस पर फरियादियों की संख्या कम दिखी। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा के अध्यक्षता में पहली बार शनिवार को आयोजित सम्पूर्ण समाधान के दौरान कोविड गाइड लाइन के अनुसार जहा अधिकारी बैठे मिले , वही फरियादियों को क्रम से अंदर भेजा जा रहा था। समाधान दिवस के दौरान ज्यादातर मामले भूमि से सम्बंधित आने पर राजस्व कर्मियों को जमकर फटकार लगाई। खटौरा बड़ागाँव के विनोद सिंह द्वारा दूसरी बार शिकायती पत्र देंते हुए आरोप लगाया कि उसकी पुत्री शिबू की शादी फूलपुर के मानी गांव में हुई। लेकिन दो वर्ष उसके पति की बीमारी के चलते मौत हो गई। उसके बाद उसके ससुराल के लोग प्रताड़ित करने के साथ निकाल रहे। डीएम ने इस पर पुलिस को फटकार लगाई और कहाकि पीड़ित को समय पर न्याय मिलना ही उद्देश्य होना चाहिए। वही बसंतपुर के शिवशंकर पांडेय ने अवैध कब्जा हटाने गई राजस्व विभाग की टीम ने बगल में ग्राम सभा मे दुर्गा मंदिर के नाम से आरक्षित जमीन पर बने चहारदीवारी व फूलदान व लगे फूलों को उखाड़ फेंक देने का आरोप लगाया। । फरियादी के आरोप पर जब डीएम ने हल्का लेखपाल मोहम्मद अयूब से जानकारी लेनी चाही तो लेखपाल द्वारा गोलमाल जबाब देने लगा । जिससे नाराज डीएम ने जमकर फटकार लगाते हुए मौके पर ही लेखपाल को राजातालाब तहसील स्थानांतरित करने व उक्त प्रकरण के बाबत टीम गठित कर शाम तक रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। मंगारी के इंद्रजीत ने बैनामा की जमीन पर पुलिस के सहपर दबंगो द्वारा अवैध कब्जे की शिकायत की। वही नदोय के राहुल विश्वकर्मा व अन्य ग्रामीणों द्वारा शौचालय निमार्ण में वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाया तो डीएम ने हलफनामा के साथ प्रार्थना पत्र देने का निर्देश दिया। जिसपर जब थोड़ी देर बाद हलफनामा के साथ शिकायत की तो प्रभारी बीडीओ आशीष सिंह से निष्पक्ष जांच करने के निर्देश दिया। वही रोह गांव के राहुल चौहान ने आरोप लगाया कि उसका शौचालय बना ही नही और सूची में नाम दिख रहा है। जिसपर एडीओ पंचायत जयप्रकाश को जांच करने का निर्देश दिया। मंगारी के युवक ने उसके जमीन पर न्यायालय के स्थगन आदेश के बावजूद बिजली विभाग द्वारा विद्युत खम्बे व तार लगाने का आरोप लगाया जिसपर एक्सईन को जांच का आदेश दिए। वार के ओमप्रकाश पांडेय व मिराशाह के राजदेव यादव ने बैनामा की जमीन पर दबंगो द्वारा कब्जा करने की शिकायत की। तहसील दिवस पर ज्यादातर मामले जमीन से सम्बंधित रहे। डीएम ने जमीन सम्बंधित प्रकरणों को राजस्व विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा गंभीरता से लेने व निस्तारण करने पर जोर दिया। उन्होंने तहसील दिवस पर पड़ने वाले शिकायतों का निस्तारण पारदर्शिता के साथ 5 दिनों के अंदर करने का निर्देश दिया। तहसील दिवस पर कुल 73 मामले आये, जिसमें से मात्र 5 मामलों का निस्तारण हो पाया। इस दौरान एसपी ग्रामीण अमित वर्मा, एडीएम प्रशासन रणविजय सिंह, एसडीएम गिरीश कुमार द्विवेदी, सीओ अभिषेक पांडेय, सीएमओ वीबी सिंह, बीएसए राकेश सिंह, एक्सईन आर बी शर्मा, श्रम प्रवर्तन अधिकारी देवब्रत यादव, मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविन्द्र प्रसाद, बीइओ अशोक सिंह, सीडीपीओ वी के यादव समेत अनेक अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *