जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का किया निरीक्षण

जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का किया निरीक्षण

  • संवाददाता: विनोद कुमार सिंह

वाराणसी: जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बुधवार को सेवापुरी के हाथी गांव में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया इस दौरान उन्होंने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर इंडिया हाइपर टेंशन कंट्रोल इनीशिएटिव के अंतर्गत हाइपर टेंशन तथा सर्वाइकल कैंसर इकाई का शुभारंभ फीता काटकर किया निरीक्षण के दौरान बताया कि चिकित्सा विभाग तथा होमी भाभा कैंसर हॉस्पिटल लहरतारा के बीच एमओयू किया गया है जिसके अंतर्गत 30 से 65 वर्ष की एवं पुरुष मरीजों की जांच कराए जाने की व्यवस्था है मरीज की पहचान होने पर उसका समुचित इलाज संबंधित अस्पताल में कराया जाएगा।

जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का किया निरीक्षण

जिलाधिकारी ने पूरे सेवापुरी ब्लाक के लोगों का लक्ष्य निर्धारित करते हुए जांच कराने का निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिया इसके साथ ही केंद्र के प्रभारी ने बताया कि सीएचओ और एएनएम को ट्रेनिंग दिया जाएगा जिससे वे घर घर जाकर कैंसर के बारे में जागरूक करेंगी और जांच की जानकारी देंगी इस सामुदायिक केंद्र पर हाइपर टेंशन के मरीजों की जांच की जाएगी और मरीज की पहचान हो जाने पर उनको एक बार में एक माह की दवा भी उपलब्ध कराई जाएगी।

वही जिलाधिकारी ने सीएचसी के बाद बने शौचालय पर ड्यूटी कर रही महिला समूह की राधा से शौचालय प्रयोग करने आने वाले तथा उपयोग राशि प्राप्त होने की जानकारी ली साथ ही हाथी गांव में मेरा घर मेरा स्कूल के तहत खुले स्थान पर चल रही कक्षाओं की छात्राओं से शब्दों के अर्थ व पर्यायवाची शब्दों को पूछा जिसका उत्तर बच्चों ने तत्परता से दिया कंपोजिट विद्यालय हाथी में स्मार्ट क्लास तथा स्कूल के बच्चों की कॉपियां देखी व गुणवत्ता परखी तथा रजिस्टर चेक किया।

जिलाधिकारी ने कम्पोजिट विद्यालय की प्रधानाध्यापिका बबीता देवी से पूछा कि पेरेंट्स को उनके बच्चों की शिक्षा के बारे में कैसे मोटिवेट करती हैं उनकी काउंसलिंग कैसे करती हैं किस कक्षा के बच्चों को क्या-क्या चीजें आनी चाहिए यह देखती है कि नहीं इसके पश्चात प्राइमरी स्कूल हाथी प्रथम का भी जिलाधिकारी ने निरीक्षण किया इस दौरान उन्होंने प्रधानाचार्य संजय श्रीवास्तव से पूछा कि बच्चों के एसेस्मेंट के लिए क्या बनाया है दिखाएं उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि कमजोर बच्चों के लिए क्या करते हैं।

प्रधानाचार्य ने बताया कि उनके लिए रेमेडियल क्लास अलग से चलाई जाती है उनको अतिरिक्त ध्यान देकर प्रोग्रेस करने के बाद सामान बच्चों के साथ पढ़ाया जाता है पेरेंट्स की मीटिंग में क्या क्या बताया आपने जिस पर जवाब में बताया गया कि मिशन प्रेरणा में बच्चों को कैसे शिक्षा दी जाती है तथा पेरेंट्स को जागरूक किए जाने पर भी जोर दिया जाता है 15 बच्चों को नवोदय विद्यालय में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार कराने का निर्देश दिया इसके साथ ही सेवापुरी ब्लाक पर जिलाधिकारी के निर्देश पर पशुपालन विभाग का गायत्री पीठ के साथ एमओयू साइन किया गया जिसके साथ मधुमक्खियां गौशाला की जिम्मेदारी दी गई जिसमें सवा सौ से अधिक पशुओं को रखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *